महामीडिया न्यूज सर्विस
संयुक्त राष्ट्र गंभीर नगदी संकट के साये में

संयुक्त राष्ट्र गंभीर नगदी संकट के साये में

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 35 दिन 1 घंटे पूर्व
13/10/2019
नई दिल्ली (महामीडिया) दुनिया की सबसे बड़ी पंचायत संयुक्त राष्ट्र को इस समय नगदी के गंभीर संकट का सामना करना पड़ रहा है। यह संकट इस कदर गहरा गया है कि संयुक्त राष्ट्र का कामकाज बंद होने की नौबत आ गई है। संयुक्त राष्ट्र के पास जो रिजर्व फंड है, उसमें मात्र 15 दिनों तक का खर्च चलाने का पैसा बचा है। नगदी की किल्लत झेल रहे संयुक्त राष्ट्र ने बहुत पहले से ही खर्चे में कटौती शुरू कर दी है। संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में लिफ्ट, एसी और हीटर बंद कर दिए गए हैं। अगर स्थिति न सुधरी तो कर्मचारियों को वेतन और अन्य सेवाओं के लिए भुगतान का संकट खड़ा हो सकता है। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने सदस्य देशों को आगाह किया है कि वे अपने अपने बकाये का भुगतान जल्द से जल्द कर दें, अन्यथा स्थिति गंभीर हो सकती है। 
दरअसल संयुक्त राष्ट्र का खर्च सदस्य देशों से मिले चंदे पर चलता है. 193 सदस्य देशों में से अब तक 129 देशों ने तयशुदा बकाया राशि का वार्षिक भुगतान किया है। इस वजह से संयुक्त राष्ट्र के पास फंड की कमी हो गई है। खास बात ये है कि भारत ने अपने हिस्से की रकम संयुक्त राष्ट्र को चुका दी है।
संयुक्त राष्ट्र प्रंबधन की चीफ कैथरीन पोलार्ड ने संयुक्त राष्ट्र महासभा की बजट कमेटी को कहा कि यूएन के 128 देशों ने अबतक 1.99 बिलियन डॉलर का भुगतान कर दिया है, लेकिन 65 देशों के पास अब भी 1.386 बिलियन डॉलर बकाया है। इनमें से सिर्फ अमेरिका ने ही संयुक्त राष्ट्र का लगभग 72 अरब रुपया नहीं चुकाया है।
और ख़बरें >

समाचार