महामीडिया न्यूज सर्विस
फेसबुक की चेहरा स्कैन टेक्नोलॉजी विवादों में

फेसबुक की चेहरा स्कैन टेक्नोलॉजी विवादों में

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 28 दिन 2 घंटे पूर्व
20/10/2019
नई दिल्ली (महामीडिया) फेसबुक की चेहरा स्कैन टेक्नोलॉजी पर उठा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा। अमेरिका की इलिनोइस राज्य की कोर्ट ने डेटा दुरुपयोग के मामले में फेसबुक की अपील ठुकरा दी है। इलिनोइस के लोगों ने फेसबुक पर 2.48 लाख करोड़ रुपये का केस किया है।
अगर फेसबुक इस मामले में केस हारता है तो उसे 70 लाख लोगों को प्रति व्यक्ति 71 हजार से 3.55 लाख रुपये तक हर्जाने के तौर पर देने होंगे। अब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद सुनवाई होगी। 
फेसबुक पर आरोप है कि इलिनोइस राज्य के लोगों ने अपने फोटो के फेशियल रिकग्निशन स्कैन करने की अनुमति नहीं दी थी। कंपनी ने उन्हें यह भी नहीं बताया था कि 2011 में मैपिंग शुरू होने पर डेटा कितने समय तक सुरक्षित रहेगा। 
सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि फेशियल रिकग्निशन स्कैन टेक्नोलॉजी लोगों की निजता का हनन है। कोर्ट ने यह भी कहा कि फेसबुक की यह टेक्नोलॉजी इलिनोइस के बायोमेट्रिक इंफॉर्मेशन प्राइवेसी एक्ट का उल्लंघन करती है।
और ख़बरें >

समाचार