महामीडिया न्यूज सर्विस
महाराष्ट्र में भाजपा को सरकार बनाने का मौका दे सकते हैं राज्यपाल

महाराष्ट्र में भाजपा को सरकार बनाने का मौका दे सकते हैं राज्यपाल

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 8 दिन 12 घंटे पूर्व
04/11/2019
नई दिल्ली (महामीडिया) महाराष्ट्र में सरकार बनाने की कवायद लगातार जारी है। प्रदेश में मौजूदा सरकार का कार्यकाल 9 नवंबर को खत्म हो रहा है। लिहाजा नई सरकार का गठन 8 नवंबर तक होना जरूरी है। ऐसे में विशेषज्ञों की मानें तो राज्यपाल के पास इस बात का अधिकार है कि वह प्रदेश की सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने के लिए कुछ और दिन का समय दे सकते हैं। लेकिन प्रदेश के वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने कहा था कि अगर सरकार बनाने का दावा पेश करने में देरी होती है कि प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लग सकता है। जबकि विशेषज्ञों का मानना है कि अगर सबसे बड़े दल को सरकार बनाने का मौका दिया जाता है तो उसे दो बार फ्लोर टेस्ट का मौका मिलेगा, पहला फ्लोर टेस्ट स्पीकर के चयन के दौरान जबकि दूसरा फ्लोर टेस्ट विश्वास प्रस्ताव पेश करते समय देना होगा। 
बता दें कि मौजूदा महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल 10 नवंबर 2014 को शुरू हुआ था। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस पीबी सावंत का कहना है कि तबतक राष्ट्रपति शासन लगाने की जरूरत नहीं जबतक राज्यपाल सरकार बनाने के सभी मौजूद विकल्पों पर विचार ना कर लें। राज्यपाल को पहले सबसे बड़े राजनीतिक दल को न्योता देना होता है और उसे सरकार बनाने का मौका मिलता है ताकि वह सदन में फ्लोर टेस्ट साबित कर सके। 
प्रदेश विधानसभा के पूर्व मुख्य सचिव अनंत कालसे ने बताया कि इससे पहले 1999 में भी इस तरह की स्थिति पैदा हुई थी, जब कांग्रेस और एनसीपी ने सरकार बनाने के लिए अतिरिक्त समय लिया था, दोनों दलों के बीच मंत्रालयों के बंटवारे में हुई देरी की वजह से उस वक्त विलंब हुआ था।
और ख़बरें >

समाचार