महामीडिया न्यूज सर्विस
जो भी कार्य करे पूरे समर्पण के साथ करें - ब्रह्मचारी गिरीश

जो भी कार्य करे पूरे समर्पण के साथ करें - ब्रह्मचारी गिरीश

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 7 दिन 13 घंटे पूर्व
04/11/2019
भोपाल (महामीडिया) महर्षि सेंटर फॉर एजुकेशनल एक्सीलेंस लाम्बाखेड़ा, भोपाल मे आज महर्षि विद्या मन्दिर विद्यालय समूह के चार दिवसीय  वार्षिक  प्राचार्य सम्मेलन का शुभारम्भ हुआ।  
महर्षि विद्या मन्दिर विद्यालय समूह के अध्यक्ष ब्रह्मचारी गिरीश जी ने इस अवसर पर सम्मेलन का शुभारम्भ करते हुये कहा कि ??यह सम्मेलन हमारे लिये नहीं प्राचार्यों के लिये है । कोई भी संगठन जब आगे बढ़ता  है तो उसके लिये समपर्ण की आवश्यकता होती है, इसलिये जो भी कार्य करें पूर्ण समपर्ण के साथ करें। महर्षि  विद्या मन्दिर स्कूलों को एक पीठ के रूप में स्थापित होना चाहिये ताकि उनकी पहचान भावातीत ध्यान के  पीठाधीस्वर  की तरह हो। सारे ब्रह्माण्ड का संचालन चेतना के द्वारा हो रहा है इसलिये अपनी चेतना को जागृत रखें इसके लिये हम सुबह-  शाम  नियमित भावातीत ध्यान करना चाहिये। चेतना के लिये आवश्यक  साधना  आवश्यक  है ठीक उसी तरह चेतना के लिये भोजन आवश्यक  है यदि हम सुबह- 20-20 मिनट का भावातीत ध्यान का भोजन नहीं देंगे तो काम नहीं चलेगा। चेतना को जागृत करने के लिये व्यक्तिगत जीवन एवं व्यवयसायिक जीवन में सफल होने के लिये प्रत्येक व्यकित को नियमित ध्यान करना चाहिये। यदि आप किसी काम में जुट जाये तो परिणाम अवश्य  निकलेगा।?? परम् पूज्य महर्षि महेश योगी जी द्वारा दी गई एक सीख की चर्चा करते हुये ब्रह्मचारी गिरीश जी ने कहा कि ??हमें अपने नियमित कार्य को नोट करके एवं उसे समय पर पूरा करने की आदत डालना चाहिये।  याददास्त के मामले में महर्षि महेश योगी जी एक विलक्षण प्रतिभा थे। एक साथ एक समय में सैकड़ों  वैश्विक परियोजनाओं पर मौखिक चर्चा करते हुये उन्हें प्रायः देखा जाता था।?? इस अवसर पर महर्षि विद्या मन्दिर विद्यालय समूह के कार्यकारी निदेशक  डा. प्रकाश चंद्र जोशी, निदेशक संचार एवं जनसम्पर्क व्ही. आर. खरे, निदेशक एम. एस. सोलंकी, निदेशक  शिक्षा सी. डी. शर्मा निदेशक  कार्मिक एवं प्रशासन एम. जे. बागची, निदेशक वित्त बी. एम. जैन, संयुक्त निदेशक निर्माण अखिलेश श्रीवास्तव एवं भावातीत ध्यान एवं सिद्धि कार्यक्रम के  राष्ट्रीय संयोजक राम विनोद सिंह गौर उपस्थित थे। प्राचार्य सम्मेलन 4 नवम्बर से लेकर 7 नबम्बर तक चलेगा जिसमें कई तकनीकी विविध् सत्र होंगे।
और ख़बरें >

समाचार