महामीडिया न्यूज सर्विस
सावन का दूसरा सोमवार आज

सावन का दूसरा सोमवार आज

Suraj Singh Chandel | पोस्ट किया गया 1475 दिन 11 घंटे पूर्व
10/08/2015
नई दिल्ली [महामीडिया] सावन के हर सोमवार के व्रत का बड़ा महत्व है। शिव भगवान तो कल्याणकारी हैं, ऐसे में जलाभिषेक करने और व्रत रखने से शिव कृपा हासिल होती है। सावन माह में शिव भक्त सोमवार को विशेषकर व्रत रखते हैं और शिव भक्ति में लीन रहते हैं। सोमवार के दिन शिव भक्ति और अभिषेक से शक्ति प्राप्त होती है, जिससे जीवन सुखमय हो जाता है। श्रावण (सावन) में इसका महत्व और भी बढ़ जाता है। गौर हो कि सावन माह भगवान शिव का प्रिय महीना है। इसमें शिव की उपासना करने वाला भक्त भोलेनाथ को अति प्रिय होता है।सावन का दूसरा सोमवार आज (10 अगस्‍त) है। पंडितों के अनुसार, 19 साल के बाद ऐसा योग बना है कि इस सावन माह के हर सोमवार को शिवभक्तों को विशेष कृपा मिल रही है। सावन का पहला सोमवार जहां जातकों को सारी समस्याओं और बधाओं से मुक्ति दिलाने वाला था, वहीं दूसरा सोमवार शिवभक्तों को बेहतर स्वास्थ्य और बल प्रदान करने वाला माना गया है। सावन मास इस बार एक अगस्त से आरंभ हुआ जो 29 अगस्त तक रहेगा। श्रावण मास का पहला सोमवार 3 अगस्त को पड़ा तथा और बाकी सोमवार इस माह की 10,17 और 24 तारीखों को होंगे। सावन के अंतिम दिन 29 अगस्त को रक्षाबंधन का पावन पर्व होगा। इस मास के सोमवार पर उपवास रखे जाते हैं। कुछ श्रद्धालु 16 सोमवार का व्रत रखते हैं। श्रावण मास के मंगलवार के व्रत को मंगला गौरी व्रत कहा जाता है। जिन कन्याओं के विवाह में विलंब हो रहा है उन्हें सावन के महीने में मंगला गौरी का व्रत रखना फलदायक रहता है। सावन के महीने में सावन शिवरात्रि और हरियाली अमावस का भी अपना अलग महत्व है।यदि शिवभक्त आज शिव की भांग, धतूरा और शहद से पूजन करें तो उन्हें शक्ति और बेहतर स्वास्थ्य प्रदान होगा और उनकी सारी इच्छाएं पूरी होंगी। सावन मास में शिवपुराण और शिव चालीसा का पाठ करना भी श्रेयस्कर होता है। सोमवार का व्रत करना काफी शुभ फलदायी होता है और श्रद्धालुओं के मार्ग की सभी रुकावटें दूर होती हैं।
और ख़बरें >

समाचार