महामीडिया न्यूज सर्विस
किसानों की खुदकुशी के मामले में महाराष्ट्र पहले और कर्नाटक दूसरे स्थान पर

किसानों की खुदकुशी के मामले में महाराष्ट्र पहले और कर्नाटक दूसरे स्थान पर

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 32 दिन 18 घंटे पूर्व
10/11/2019
नई दिल्ली [ महामीडिया ]भारत में साल 2016 में 11,379 किसानों ने खुदकुशी की है ।यह आंकड़ा 2016 की 'एक्सिडेंटल डेथ एंड सुसाइड' रिपोर्ट में सामने आया है।हालांकि रिपोर्ट यह भी बताती है कि साल दर साल खुदकुशी के मामलों में कुछ कमी आई है।2016 में जहां 11,379 किसानों ने खुदकुशी की तो वहीं 2014 में 12,360 और 2015 में 12,602 किसानों ने आत्महत्या कर ली।महाराष्ट्र में इसकी दर राष्ट्रीय स्तर पर सबसे ज्यादा है।देश में कुल 6,270 मौतों में 2,550 मामले महाराष्ट्र से सामने आए हैं।महाराष्ट्र की बात करें तो यहां पिछले साल की तुलना में किसानों की खुदकुशी के मामलों में 20 फीसदी तक की कमी आई है।इसके बावजूद महाराष्ट्र में इसकी दर राष्ट्रीय स्तर पर सबसे ज्यादा है. देश में कुल 6,270 मौतों में 2,550 मामले महाराष्ट्र से सामने आए हैं।कुल मिलाकर आंकड़े बताते हैं कि किसानों की खुदकुशी के मामले 21 फीसदी तक घटे हैं, जबकि खेती-किसानी से जुड़े श्रमिकों की आत्महत्या 10 फीसदी तक बढ़ गई है।किसानों की खुदकुशी में पुरुषों की संख्या ज्यादा है जबकि पूरे देश में 8.6 फीसदी महिला किसानों ने भी आत्महत्या की है।किसानों की खुदकुशी के मामले में कर्नाटक का स्थान दूसरा है, जहां 2016 में 2,079 और 2015 में 1,569 मामले सामने आए।


और ख़बरें >

समाचार