महामीडिया न्यूज सर्विस
धर्म के साथ राष्ट्रभक्ति के तराने : कर्मश्री कांवड़ा यात्रा 10वां वर्ष

धर्म के साथ राष्ट्रभक्ति के तराने : कर्मश्री कांवड़ा यात्रा 10वां वर्ष

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 751 दिन 16 घंटे पूर्व
29/07/2017
होशंगाबाद। होशगांबाद के जिस नर्मदा तट पर प्रतिदिन सिर्फ धार्मिक भजनों और मंत्रों की स्वर लहरियां ही गूंजती है, शनिवार सुबह वहां धर्म के साथ राष्ट्रभक्ति के तराने भी गूंजे। अवसर था भोपाल की प्रसिद्ध संस्था ??कर्मश्री?? की कांवड़यात्रा का। प्रतिवर्ष बड़े उत्साह के साथ निकलने वाली कर्मश्री कांवड़यात्रा इस बार 10 वें वर्ष में प्रवेश कर गई है। आज शनिवार सुबह यह कांवड़यात्रा सेठानी घाट से शुरू हुई। यात्रा शुरू होने के पूर्व कांवड़यात्रा के संयोजक-विधायक रामेश्वर शर्मा ने विधि विधान से माॅं नर्मदा की पूजा अर्चना की। विद्वान पुरोहितों ने वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ नर्मदा मैया का पूजन कराया। यात्रा संयोजक-विधायक रामेश्वर शर्मा द्वारा सभी कांवड़ियों की ओर से  मां नर्मदा को 1100 मीटर लंबी चूनरी भी समर्पित की गई। इस अवसर पर सोहागपुर विधायक विजयपाल सिंह, पूर्व नपाध्यक्ष श्रीमती माया नरोलिया, सलकनपुर ट्रस्ट के अध्यक्ष महेश उपाध्याय, वरिष्ठ भाजपा नेता हंस राय, भाजपा नेता अनुराग तिवारी, जीतू तिवारी, आलोक थापक, विकास नरोलिया, मनीष शर्मा सहित आठ हजार से अधिक कांवड़िए मौजूद थे। नर्मदा तट पर पूजन अर्चन उपरांत नर्मदा जल कांवड़ में भरकर कांवड़ियों का रेला जो निकला तो सेठानी घाट से सतरस्ते तक और सतरस्ते से भोपाल तिराहे तक पड़ने वाली हर गली, सभी चैक-चैराहे भी भगवामय हो गए। स्थानीय नागरिकों एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा कांवड़ियों का सभी चैक चैराहों पर भव्य स्वागत किया गया। हर जगह कांवड़ियों पर पुष्पवर्षा की गई तो कई जगहों पर कांवड़ियों के लिए जल-पान की व्यवस्था भी की गई थी। सोहागपुर विधायक विजयपाल सिंह सहित अन्य स्थानीय प्रतिनिधि भोपाल तिराहे तक कांवड़ियों के साथ-साथ चलकर उनका उत्साहवर्द्धन करते रहे। सेठानी घाट से सुबह 9 बजे रवाना हुई कांवड़यात्रा खबर लिखे जाने तक भोपाल तिराहा पार कर चुकी है। यह यात्रा तीन दिनों में 111 किमी चलकर श्रावण सोमवार 1 अगस्त को भोपाल पहुंचेगी जहां लालघाटी स्थित गुफा मंदिर में भगवान के आशुतोष स्वरूप का कांवड़जल से जलाभिषेक किया जाएगा।सेठानी घाट पर माॅं नर्मदा के पूजन-आरती उपरांत विधायक रामेश्वर शर्मा सहित सभी कांवड़ियों ने 1100 मीटर लंबी चूनरी माॅं नर्मदा को समर्पित की। यह चुनरी एक दिन पूर्व शुक्रवार को भोपाल के संतनगर में निकाली गई चुनरी यात्रा के दौरान हजारों श्रद्धालुओं द्वारा पूजी गई थी। समर्पित की गई चुनरी का एक छोर सेठानी घाट पर तो दूसरा छोर बोट के सहारे नदी के दूसरे किनारे तक पहंुचाकर माॅं नर्मदा का श्रंगार किया गया। यात्रा के संयोजक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि हमने पूरे प्रदेश् की खुश्हाली की कामना कर माॅं नर्मदा को चुनरी अर्पित की है। उन्होने कहा कि माॅं नर्मदा का मध्यप्रदेश पर बड़ा उपकार है।

और ख़बरें >

समाचार