महामीडिया न्यूज सर्विस
इलेक्ट्रिक वाहनों के विकास और साझा बिक्री का करार

इलेक्ट्रिक वाहनों के विकास और साझा बिक्री का करार

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 396 दिन 4 घंटे पूर्व
19/09/2017
मुंबई [महामीडिया]: यूटिलिटी वाहन विनिर्माता महिंद्रा ऐंड महिंद्रा ने अमेरिकी वाहन कंपनी फोर्ड के साथ आज एक करार का ऐलान किया। इसके तहत दोनों कंपनियां साथ मिलकर उत्पादों, खासकर इलेक्ट्रिक और कनेक्टेड वाहनों के विकास की संभावना तलाशेगी। इस साझेदारी से फोर्ड को तेजी से विकास कर रहे भारतीय बाजार में आधार बढ़ाने में मदद मिलेगी और महिंद्रा को वैश्विक बाजार में पैठ बनाने में सहूलियत होगी। मारुति सुजूकी और हुंडई के वर्चस्व वाले घरेलू यात्री कार बाजार में महिंद्रा और फोर्ड की बाजार हिस्सेदारी एक अंक में ही है।  दोनों कंपनियों की टीमें तीन साल तक साथ मिलकर काम करेंगी और इस दिशा में आगे किसी तरह की रणनीतिक साझेदारी का निर्णय तीन साल पूरे होने के बाद ही किया जाएगा। एमऐंडएम के प्रबंध निदेशक पवन गोयनका ने कहा, 'वाहन उद्योग को दुनिया भर में नई प्रौद्योगिकी, टिकाऊ नीतियों और शहरी गतिशीलता के लिए नए मॉडल के विकास जैसी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। इन चुनौतियों को देखते हुए हमें बाजार के नए रुझानों का अनुमान लगाने, नए विकल्प तलाशने की जरूरत है, जिससे नए अवसरों की राह खुल सकती है।'
यूटिलिटी क्षेत्र की दिग्गज महिंद्रा फोर्ड के साथ इस साझेदारी में कार के क्षेत्र पर पुनर्विचार कर सकती है। यह साझेदारी पहले किए गए ऐसे करार से कहीं ज्यादा व्यापक है और इसमें कारों के वितरण से लेकर पुर्जों की आपूर्ति तक पर विचार किया जाएगा। भारत की तीसरी सबसे बड़ी वाहन कंपनी महिंद्रा ऐंड महिंद्रा को प्रतिस्पर्धी कंपनियों के यूटिलिटी वाहनों से तगड़ी टक्कर मिल रही है, जिससे उसकी बाजार हिस्सेदारी में सेंध लग रही है। फोर्ड भी पिछले कुछ समय से 3 फीसदी बाजार हिस्सेदारी पर ही अटकी हुई है, जबकि कुछ वर्षों से वह भारत से सबसे बड़ी वाहन निर्यातक के तौर पर उभरी है। फोर्ड के पास अतिरिक्त क्षमता है, जिसका महिंद्रा उपयुक्त इस्तेमाल कर सकती है। भारत फिलहाल दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा कार बाजार है और 2020 तक तीसरा सबसे बड़ा बाजार बनने की उम्मीद है।   
और ख़बरें >

समाचार