महामीडिया न्यूज सर्विस
हजारों स्थानों पर विराजी दुर्गा मैया

हजारों स्थानों पर विराजी दुर्गा मैया

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 695 दिन 15 घंटे पूर्व
22/09/2017
आजमगढ़ [महामीडिया]:  शारदीय नवरात्र के पहले दिन मां के दरबार में आस्था का सैलाब उमड़ा।  घरों में मां के भक्तों ने कलश स्थापित और मां शैलपुत्री की आराधना की। मंदिरों में बजने वाले घंटा-घडिय़ाल और ?जय माता दी? के जयकारे से वातावरण भक्तिमय हो गया था। भगवती के दर्शन के लिए मुख्य चौक स्थित दक्षिणमुखी मां, रैदोपुर में दुर्गा मंदिर, पांडेबाजार में काली मंदिर, बाजबहादुर में दुर्गा मंदिर, सिधारी शंकर तिराहा पर दुर्गा मंदिर, बेलइसा में मां काली मंदिर और बड़ादेव दुर्गा जी सहित अन्य देवी मंदिरों में भक्तों की भीड़ उमड़ी।
नवरात्र में नौ दिनों तक व्रत रहने वाले भक्तों ने घरों में कलशों की स्थापना की, विधि-विधान से पूजन-अर्चन के बाद मां के दरबार में पहुंच मत्था टेका। शाम होते ही मां का दरबार विद्युत झालरों जगमगा उठा। नगर में विभिन्न देवी मंदिरों में लग रहे मां के जयकारे, घंटा-घड़ियाल के आवाज और हवन-पूजन वातावरण मां मय हो गया था।
निजामाबाद संवाददाता के अनुसार मां शीतला धाम पर नवरात्र के पहले दिन भक्तों का रेला उमड़ा। भक्तों ने मां के दर्शन कर और कढ़ाई चढ़ाकर सुख-समृद्धि की कामना की। इस दौरान मंदिर परिसर में चल रहे भजन-कीर्तन से माहौल भक्तिमय हो गया था।
गायक कलाकारों ने भक्ति गीत निमिया के डरिया मैया झुलेली झुलनवा और शेर पे सवार होके आजा शेरावाली गीतों से सभी का मनमोह लिया। मंदिर में सुबह आरती के बाद भक्तों में प्रसाद का वितरण किया। पल्हना संवाददाता के अनुसार मां पाल्हमेश्वरी के धाम पर सुबह से ही दर्शन को भक्तों की लंबी लाइन देखने को मिली।
सगड़ी । सगड़ी तहसील क्षेत्र में नवरात्र के पहले दिन मंदिरों में सुबह से ही मां के दर्शन को श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। इस दौरान भक्तों ने मां के दर्शन पूजन कर परिवार के सुख-समृद्धि की कामना की। वहीं नरईपुर में पंडाल में स्थापित मां दुर्गा की प्रतिमा को दर्शन के लिए खोल दिया गया। दुर्गा पूजा के लिए जीयनपुर, अजमतगढ़, नरईपुर, हासपुर, लुचुई सहित पूरे क्षेत्र में पंडाल में मां की प्रतिमा को स्थापित करने के लिए समिति के लोग जुटे हैं। गुरुवार को नवरात्र के पहले दिन नरईपुर में हवन-पूजन और  मंत्रोच्चारण के बीच मां दुर्गा के पट भक्तों के लिए खोल दिया गया। इसी के साथ मां दुर्गा दर्शन-पूजन को भक्तों का तांता लग गया।
इस दौरान भक्तों ने दर्शन पूजन कर परिवार की सुख-समृद्धि की कामना की। वहीं अन्य समिति के लोग भी अपने-अपने पंडाल भव्य रूप देने में लगे हैं। बारिश के कारण पंडाल निर्माण में कुछ खलल जरूर पड़ रही है, लेकिन कार्यकर्ताओं पूरे जोश के साथ तैयारियों में लगे हैं। मां दुर्गा की प्रतिमा को बचाने के लिए वाटर प्रूफ पंडाल बनाया जा रहा है।
और ख़बरें >

समाचार