महामीडिया न्यूज सर्विस
बेटियों की पढ़ाई में बाधा न आए, इसके लिए प्रदेश में बनेगा कानून: शिवराज

बेटियों की पढ़ाई में बाधा न आए, इसके लिए प्रदेश में बनेगा कानून: शिवराज

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 10 दिन 11 घंटे पूर्व
12/10/2017
भोपाल। प्रदेश में बेटियों की पढ़ाई में कोई बाधा न आए, इसलिए सरकार कानून बनाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को इसकी घोषणा की। वह लाड़ली लक्ष्मी शिक्षा पर्व के छात्रवृत्ति वितरण समारोह में भाग ले रहे थे। उन्होंने कहा कि बेटियां पृथ्वी पर ईश्वर का सबसे बड़ा उपहार हैं। प्रदेश की 65 हजार बेटियों को छात्रवृत्ति वितरित की गई। 
सीएम चौहान ने कहा कि बेटियां चाहें तो आसमान छू सकती हैं। बेटियों को ऐसे गुणों का विकास करना चाहिए, जिससे पूरी दुनिया में उनका नाम हो। मप्र में 26.30 लाख बेटियां हैं। 21 वर्ष पूरे होने पर इनके परिवारों को 31 हजार करोड़ रुपये मिलेंगे। लाड़ली लक्ष्मी योजना में बेटियों के लिये छात्रवृत्ति की व्यवस्था की गई है।प्रदेश की बेटियों को 12वीं कक्षा में 85 प्रतिशत लाने पर लेपटॉप और कॉलेज में प्रवेश लेने पर स्मार्ट फोन दिया जाता है। कक्षा 12 की परीक्षा में 75 प्रतिशत से अधिक अंक लाने के बाद महाविद्यालय में प्रवेश लेने पर उनकी फीस मेधावी विद्यार्थी योजना से भरी जाएगी।
सीएम चौहान ने कहा कि बेटियां मप्र की ताकत हैं। बेटियों को पुलिस विभाग की भर्ती में 33 प्रतिशत तथा शिक्षकों की भर्ती में 50 प्रतिशत का रिजर्वेशन दिया गया है। स्थानीय निकायों में बेटियों को 50 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है। बेटियों को ऊंचाई में छूट दी जाएगी। उन्होंने प्रदेश सरकार की बेटियों के लिए चलाए जा रही योजनाओं की जानकारी दी।

और ख़बरें >

समाचार