महामीडिया न्यूज सर्विस
पहली बार जय शाह को लेकर आया RSS का बयान

पहली बार जय शाह को लेकर आया RSS का बयान

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 10 दिन 11 घंटे पूर्व
12/10/2017
भोपाल। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकारी मंडल की बैठक भोपाल में शुरू हो गई है। इस तीन दिवसीय बैठक की खास बात यह है कि भाजपा के किसी पदाधिकारी को इसमें नहीं बुलाया गया है। संघ के मुख्य आनुषांगिक संगठनों को छोड़कर बाकियों को बैठक से दूर रखा गया है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि इस बैठक में अगले 3 साल की योजना बनाई जाएगी।
दत्तात्रेय ने जय शाह के लिए कही ये बात
बैठक के पहले ही दिन संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने बीजेपी प्रमुख अमित शाह के बेटे जय शाह का पक्ष लिया। उन्होंने कहा कि अगर जय शाह पर आरोप गंभीर हैं तभी जांच हो, वरना जांच की जरूरत नहीं। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के मामलों की जांच अवश्य होनी चाहिए, लेकिन पहले आरोप लगाने वाले आरोप साबित करें। उन्होंने आगे कहा कि समाज में आज हर मुद्दे पर चर्चा और संवाद की आवश्यकता है। समाज के हर नागरिक को अपनी भावनाएं व्यक्त करनी चाहिए।
शाखा में महिलाओं के आने पर विचार नहीं
RSS ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से मीडिया में आ रही उन खबरों को गलत बताया जिनमें कहा जा रहा है कि संघ की शाखाओं में महिलाओं की एंट्री पर विचार किया जा रहा है। संघ ने साफ किया कि डॉ. वैद्य ने कहा था कि संघ शाखाओं में सिर्फ पुरुषों के साथ काम करता है और उनके परिवारों से जुड़ा रहता है। महिलाओं के बीच काम राष्ट्रीय सेविका समिति के माध्यम ये किया जाता है।
इसलिए उठाया है ये कदम
- मध्यभारत प्रांत के संघ चालक सतीश पिंपलीकर, प्रांत सह सरकार्यवाह हेमंत मुक्तिबोध ने इसकी पुष्टि की। पिंपलीकर ने बताया कि भाजपा के प्रतिनिधि कार्यकारी मंडल की बैठक में नहीं शामिल किए गए हैं। आरएसएस ने यह कदम इसलिए उठाया गया है क्योंकि डेढ़ माह पहले वृंदावन में आरएसएस की बैठक हो चुकी है। बहरहाल, यह पहली बार होगा कि भाजपा व अनुषांगिक संगठनों के प्रतिनिधियों को कार्यकारी मंडल में नहीं बुलाया गया है।
और ख़बरें >

समाचार