महामीडिया न्यूज सर्विस
वर्ल्ड बैंक में रह चुके लोग भी उठा रहे हैं सवाल- नरेन्द्र मोदी

वर्ल्ड बैंक में रह चुके लोग भी उठा रहे हैं सवाल- नरेन्द्र मोदी

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 682 दिन 42 मिनट पूर्व
04/11/2017
नई दिल्ली (महामीडिया) प्रवासी भारतीय केंद्र में इंडिया बिजनेस रिफॉर्म पर आयोजित सम्मेलन में पीएम नरेंद्र मोदी ने इज ऑफ डूइंग बिजनेस में भारत की रैकिंग सुधार का जिक्र करते हुए आलोचकों पर निशाना साधा. पीएम मोदी ने कहा कि इस समय उत्सव का माहौल है. विश्व बैंक ने भारत के आर्थ‍िक क्षेत्रों में हुए सुधार को सराहा है. ईज ऑफ डूइंग बिजनेस से लोगों का जीवन भी आसान बन रहा है. पीएम नरेंद्र मोदी इंडिया बिजनेस रिफॉर्म के मेक इन इंडिया सेशन को संबोधित कर रहे हैं. पीएम नरेंद्र मोदी ने इस दौरान विपक्ष पर वार करते हुए कहा कि कुछ लोगों को भारत की बिजनेस रैकिंग 142 से 100 होने की बात समझ नहीं आती है. उनको फर्क नहीं पड़ता है. पीएम मोदी ने कहा कि यह तब है जब कुछ लोग वर्ल्ड बैंक में रह चुके हैं. वही लोग आज भारत की रैंकिंग पर सवाल उठा रहे हैं. आपको बता दें कि राहुल गांधी ने इज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग पर सवाल उठाए थे. देश में हो रहे आर्थि‍क सुधारों पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि ''और क्या काम है मेरे पास, बस एक ही काम है कि यह देश, मेरे देश की सेवा. सौ करोड़ लोग और उनके जीवन में बदलाव लाना.'' पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर तंज कसते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि ''मैं वैसा पीएम हूं जिसने वर्ल्ड बैंक की बिल्ड‍िंग भी नहीं देखी और जबकि पहले वर्ल्ड बैंक चलाने वाले लोग यहां बैठा करते थे.'' पीएम मोदी ने विपक्ष पर तंज कसते हुए कहा कि विपक्ष को कुछ करना है नहीं और जो हो रहा है उस पर सवाल उठाना है. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत उस पोजिशन पर पहुंच गया है, जहां से वह अब आगे ही बढ़ेगा. उनके प्रयासों को अब गति मिलनी शुरू हो गई है. पीएम मोदी ने बताया कि हालांकि इज ऑफ डूइंग रिपोर्ट में जीएसटी के निर्णय को शामिल नहीं किया गया है. जबकि जीएसटी के साथ हम एक नए मॉर्डन टैक्स पॉलिसी की ओर आगे बढ़ रहे हैं. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत युवा देश है और नौकरी पैदा करना यहां एक अवसर भी है और चुनौती भी. पीएम नरेंद्र मोदी ने बताया कि फॉरेन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट में हम सबसे आगे हैं. हमने बिजनेसमैन लोगों के दुख दर्द और चिंताओं को समझा है. उन्हें दूर करने की कोशिश की है. टेक्नॉलजी की मदद से बिजनेस करना आसान करने की कोशि‍श की है. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि तीन सालों में कारोबार करना आसान हुआ है. टैक्स देना आसान हुआ है. हमने न सिर्फ बिजनेस करने के तरीकों में रिफॉर्म किया है बल्कि‍ जीवन के कई हिस्सों में सुधार लाए हैं. पासपोर्ट बनाना, ड्राइविंग लाइसेंस लेना, बिजली कनेक्शन लेना सब आसान किया है. अंत में पीएम नरेंद्र मोदी ने सबको साथ आकर न्यू इंडिया में मदद करने की बात कही और विश्व बैं‍क को उसके गाइडेंस के लिए धन्यवाद किया.
और ख़बरें >

समाचार