महामीडिया न्यूज सर्विस
एयरसेल के सामने कारोबार समेटने की नौबत आई

एयरसेल के सामने कारोबार समेटने की नौबत आई

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 222 दिन 13 घंटे पूर्व
07/11/2017
मुंबई (महामीडिया) रिलायंस कम्युनिकेशंस के साथ मर्जर कैंसल किए जाने के बाद एयरसेल के पास अपना कामकाज धीरे-धीरे समेटने के सिवा कोई चारा बचने की गुंजाइश बेहद कम दिख रही है। अदालत के एक आदेश के चलते एयरसेल 2जी या 3जी स्पेक्ट्रम नहीं बेच सकती है जबकि पैसे की तंगी और ज्यादा कर्ज के चलते उसे लगातार नुकसान हो रहा है। ऐसे में एक्सपर्ट्स और ऐनालिस्ट्स का कहना है कि कंपनी अपना कामकाज समेट सकती है।  ईटी ने कई ऐनालिस्ट्स से बात की जिन्होंने कहा कि एयरसेल के पास 4जी स्पेक्ट्रम नहीं है और उस पर करीब 20,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। ऐसे में वह ऐसी डील करने की कोशिश कर सकती है, जिसमें उसके स्पेक्ट्रम को शामिल न किया जाए, लेकिन लगभग 8.9 करोड़ सब्सक्राइबर्स सहित इसकी दूसरी वायरलेस ऐसेट्स किसी बड़ी टेलिकॉम कंपनी को बेची जा सकें और करीब 40,000 टावरों को किसी अन्य कंपनी को बेचा जा सके। 
और ख़बरें >

समाचार