महामीडिया न्यूज सर्विस
टाइटन टाटा समूह में तीसरी मूल्यवान कंपनी बनी

टाइटन टाटा समूह में तीसरी मूल्यवान कंपनी बनी

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 280 दिन 21 घंटे पूर्व
13/11/2017
मुंबई (महामीडिया) एक दशक पहले तक घड़ी सेगमेंट टाइटन का बेहद मुनाफे वाला व्यवसाय था और उसके राजस्व में इसका योगदान लगभग 50 फीसदी का था। इसके बावजूद टाइटन बाजार मूल्य के लिहाज से टाटा समूह के लिए शीर्ष रैंकिंग कंपनियों में शामिल नहीं थी। भले ही टाइटन अब भारत का सबसे ज्यादा बिकने वाला घड़ी ब्रांड है, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में इसकी स्थिति बदलने का काम आभूषण व्यवसाय ने किया है। टाइटन का शेयर सोमवार को 19 फीसदी चढ़ गया और इस कैलेंडर वर्ष में कंपनी का शेयर यूं भी बहुत तेजी से मजबूत हुआ है। इसकी वजह से टाइटन टाटा समूह में तीसरी सबसे मूल्यवान कंपनी बन गई है। यह बदलाव स्वयं यह दर्शाता है कि कंपनी कितनी महत्त्वपूर्ण हो गई है। टाटा स्टील हालांकि टाटा समूह की सबसे पुरानी कंपनी है और टाइटन के मुकाबले पांच गुना अधिक कमाई करती है। लेकिन पिछले सोमवार को टाइटन का बाजार पूंजीकरण 69,651 करोड़ हो गया और उसने टाटा स्टील के 68,834 करोड़ रुपये के बाजार पूंजीकरण को पार कर लिया। टाइटन के शीर्ष तीन कंपनियों में आने से पता चलहता है कि निवेशक किस तहर उपभोक्ता केंद्रित शेयरों को तरजीह दे रहे हैं। जाने-माने निवेशक राकेश झुनझुनवाला टाइटन में निवेश करने वाले शुरुआती निवेशकों में शामिल रहे हैं।
और ख़बरें >

समाचार