महामीडिया न्यूज सर्विस
बीसीसीआइ जल्द ले सकती है राजस्थान क्रिकेट संघ पर बड़ा फैसला

बीसीसीआइ जल्द ले सकती है राजस्थान क्रिकेट संघ पर बड़ा फैसला

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 643 दिन 23 घंटे पूर्व
16/11/2017
नई दिल्ली (महामीडिया) चार साल से चला जा रहा राजस्थान क्रिकेट संघ का वनवास जल्द ही खत्म होने जा रहा है क्योंकि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड अपनी अगली विशेष आम सभा में इस पर चर्चा करके फैसला कर सकता है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति ने बीसीसीआइ के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना को एसजीएम आयोजित करने के लिए नोटिस भेजा है। खन्ना को गुरुवार को एसजीएम की तिथि घोषित करनी है। सीओए अध्यक्ष विनोद राय ने मंगलवार को खन्ना को मेल भेजकर एसजीएम की तिथि घोषित करने के लिए 48 घंटे का समय दिया था। खन्ना ने स्वीकार किया है कि उन्हें सीओए की ओर से नोटिस मिला है। उन्होंने कहा कि वह एसजीएम के लिए ऐसी तिथि घोषित करना चाहते हैं, जो समय के अनुकूल हो। वह सभी साथियों के साथ बातचीत कर रहे हैं। साथ ही हमें एसजीएम का एजेंडा भी तय करने की जरूरत है। साधारण तौर पर एसजीएम बुलाने के लिए 10 दिन के समय की जरूरत होती है। जब खन्ना से पूछा गया कि क्या आरसीए का निलंबन वापस होगा तो उन्होंने कहा कि एजेंडे में आरसीए का निलंबन वापस लेने का मामला भी होगा। बाकी का फैसला सदस्यों को लेना है। हालांकि सूत्रों की मानें कि अब अधिकतर सदस्य आरसीए का निलंबन खत्म करने के पक्ष में हैं क्योंकि उन्होंने नए चुनाव कर लिए हैं और नई समिति बाकायदा काम कर रही है। बीसीसीआइ ने आइपीएल में अनियमितताओं के कारण 2010 में पूर्व चेयरमैन ललित मोदी को निलंबित किया था। इसके बावजूद मोदी के आरसीए से जुड़े रहने के कारण बोर्ड ने सितंबर 2013 में आरसीए पर भी प्रतिबंध लगा दिया। बीसीसीआइ नहीं चाहता था कि आरसीए में मोदी का वर्चस्व रहे। इसको लेकर मुकदमेबाजी भी हुई। बीसीसीआइ ने खन्ना की अध्यक्षता में आरसीए के लिए एक समिति का भी गठन किया था। इसके बाद इस साल दो जून को हुए आरसीए के चुनाव में 66 वर्षीय सीपी जोशी ने ललित मोदी के 22 वर्षीय बेटे रूचिर मोदी को हराकर अध्यक्ष पद का चुनाव जीता। निलंबन के बाद से राजस्थान की क्रिकेट टीम बीसीसीआइ के घरेलू टूर्नामेंट में जरूर खेलती है, लेकिन उसे टीम राजस्थान नाम दिया जाता था। तब से राजस्थान में कोई अंतरराष्ट्रीय मैच भी नहीं हुआ है। इस साल जून में ही आरसीए ने ललित मोदी की जिला संघ नागौर को निलंबित कर दिया था। बीसीसीआइ की एसजीएम में इसके अलावा लोढ़ा कमेटी द्वारा जारी सभी सुझावों को अभी तक लागू नहीं करने पर चर्चा होगी। साथ ही घरेलू भुगतान संरचना को भी संशोधित करने का फैसला इस बैठक में हो सकता है।
और ख़बरें >

समाचार