महामीडिया न्यूज सर्विस
बिहार के मुख्यमंत्री ने सोनिया को सलाह दी....

बिहार के मुख्यमंत्री ने सोनिया को सलाह दी....

admin | पोस्ट किया गया 64 दिन 22 घंटे पूर्व
21/04/2017
नई दिल्ली [महामीडिया]:  2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव और आने वाले राष्ट्रपति चुनाव समेत कई अहम मुद्दों पर बात करने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी से मुलाकात की. नीतीश ने मुलाकात में दो टूक कहा कि हमेशा की तरह बीजेपी के झांसे में ना आयें, बल्कि अपना एजेंडा खुद तय करें. सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ पर हुई इस बैठक में नीतीश ने सोनिया के साथ आने वाले राष्ट्रपति चुनावों पर भी बात की. नीतीश ने सोनिया से विपक्ष का नेतृत्व करने की अपील की, उन्होंने कहा कि विपक्ष में अभी वह सबसे बड़ी नेताओं में से एक हैं. इसलिए उन्हें पहल करनी चाहिए. विपक्ष की ओर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार चुनने में भी उन्हें पहल दिखानी चाहिए.
नीतीश इससे पहले इस मुद्दे पर एनसीपी से भी बात कर चुके हैं, तो अब वह चाहते हैं कि सोनिया गांधी एनसीपी, लेफ्ट पार्टियों समेत अन्य विपक्षी पार्टियों से इस मुद्दे पर बात करें. सोनिया से मुलाकात के दौरान उन्होंने ईवीएम और नोटबंदी के मुद्दे पर भी बात की. इस दौरान उन्होंने कहा कि मोदी सरकार हर बार अपना एजेंडा तय करती है और विपक्ष उसमें फंस जाता है. इसलिए बीजेपी के जाल में ना फंसते हुए विपक्ष को अपना एजेंडा खुद तय करना चाहिए. गौरतलब है कि पिछले काफी समय से विपक्ष ने कई मुद्दों पर साथ आकर मोदी सरकार को घेरने की कोशिश की है. लेकिन कई मौकों पर उसे सफलता नहीं मिल सकी है. महागठबंधन पिछले काफी समय से एक सवाल ही है.

" >
नई दिल्ली [महामीडिया]:  2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव और आने वाले राष्ट्रपति चुनाव समेत कई अहम मुद्दों पर बात करने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी से मुलाकात की. नीतीश ने मुलाकात में दो टूक कहा कि हमेशा की तरह बीजेपी के झांसे में ना आयें, बल्कि अपना एजेंडा खुद तय करें. सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ पर हुई इस बैठक में नीतीश ने सोनिया के साथ आने वाले राष्ट्रपति चुनावों पर भी बात की. नीतीश ने सोनिया से विपक्ष का नेतृत्व करने की अपील की, उन्होंने कहा कि विपक्ष में अभी वह सबसे बड़ी नेताओं में से एक हैं. इसलिए उन्हें पहल करनी चाहिए. विपक्ष की ओर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार चुनने में भी उन्हें पहल दिखानी चाहिए.
नीतीश इससे पहले इस मुद्दे पर एनसीपी से भी बात कर चुके हैं, तो अब वह चाहते हैं कि सोनिया गांधी एनसीपी, लेफ्ट पार्टियों समेत अन्य विपक्षी पार्टियों से इस मुद्दे पर बात करें. सोनिया से मुलाकात के दौरान उन्होंने ईवीएम और नोटबंदी के मुद्दे पर भी बात की. इस दौरान उन्होंने कहा कि मोदी सरकार हर बार अपना एजेंडा तय करती है और विपक्ष उसमें फंस जाता है. इसलिए बीजेपी के जाल में ना फंसते हुए विपक्ष को अपना एजेंडा खुद तय करना चाहिए. गौरतलब है कि पिछले काफी समय से विपक्ष ने कई मुद्दों पर साथ आकर मोदी सरकार को घेरने की कोशिश की है. लेकिन कई मौकों पर उसे सफलता नहीं मिल सकी है. महागठबंधन पिछले काफी समय से एक सवाल ही है.

और ख़बरें >

समाचार