महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • जीवन की गुणवत्ता बनाती है परिस्थितियों की गुणवत्ता

    भोपाल [महामीडिया]: भारत की अविच्छिन्न संत-परम्परा में परम पूज्य महर्षि महेश योगी जी का एक अद्वितीय स्थान है। महर्षि जी एक व्यावहारिक संत रहे हैं और 'आज' और 'आप' को बुनियादी महत्व देते हैं। 'आज' अर्थात् वर्तमान हमें प्रभु का उपहार है। 'आप' अपने जीवन में आई किसी भी स्थिति से अधिक महत्वपूर्ण हैं। अतः इस आज और आप का सम्पूर्ण सदुपयोग होना चाहिये। हम >>और पढ़ें

  • आज भी मौजूद है श्रीलंका में रामायण के पांच निशान

     नई दिल्ली  (महामीडिया): रावण जब माता सीता का अपहरण कर श्रीलंका पहुंचा तो सबसे पहले सीता जी को इसी जगह रखा था। इस गुफा का सिर कोबरा सांप की तरह फैला हुआ है। गुफा के आसपास की नक्‍काशी इस बात का प्रमाण है। इसके बाद जब माता सीता ने महल मे रहने से इंकार कर दिया तब उन्‍हें अशोक वाटिका में रखा गया। सीता अशोक के जिस वृक्ष के नीचे बैठती थी वो जगह सीता एल्‍या >>और पढ़ें

  • श्रद्धालुओं ने भगवान भोले का किया अभिषेक

    सावनके [महामीडिया]:  पहले सोमवार को शिवालयों में दिनभर हर-हर महादेव और ऊं नम: शिवाय गूंजते रहे। कई मंदिरों में तो श्रद्धालुओं को पूजा के लिए घंटों तक इंतजार करना पड़ा। खारिया रोड स्थित शिवमंदिर, डीडवाना रोड स्थित हर-हर महादेव मंदिर, हरियाजून टिकली डूंगरी स्थित गोपेश्वर नाथ महादेव मंदिर, शाकंभरी माताजी, गणेश डूंगरी, सूर्य मंदिर, गì >>और पढ़ें

  • गंगा को नुकसान पहुंचाने पर 7 साल की सजा की तैयारी

    नई दिल्ली.गंगा को देश की पहली जीवित नदी  का दर्जा मिलने के बाद केंद्र सरकार इसे नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ सजा के साथ जुर्माना लगाने की तैयारी में है। दरअसल, केंद्र के एक पैनल ने 'नेशनल रिवर (रेजोनुवेशन, प्रोटेक्शन और मैनेजमेंट) गंगा बिल-2017' ड्राफ्ट किया है। इसके कानून बनने पर गंगा को प्रदूषित करने या नुकसान पहुंचाने के लिए मैक्सिमम 7 साल कैद & >>और पढ़ें

  • अच्छे मानसून के लिए सरकारी अनुष्ठान, खर्च होंगे 20 लाख

    बेंगलुरू। यूं तो कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया खुद को जनता का सीएम बनाते हैं, लेकिन उनकी सरकार के कर्म और बातों में बड़ा फर्क नजर आता है। पिछले दिनों उनकी कार पर कौवा बैठा तो कार ही बदल डाली थी। अब खबर यह है कि प्रदेश में अच्छे मानसून के लिए उनकी सरकार पूजा-पाठ कराने जा रही है और इस पर पूरे 20 लाख रुपए खर्च होंगे।सिद्धारमैया सरकार का जल संसा >>और पढ़ें

  • सांस्कृृतिक महोत्सव के कारण बर्बाद हुए यमुना के तट ?

     नई दिल्ली। श्री श्री रविशंकर की ओर से पिछले साल यमुना के तट पर आयोजित तीन दिन के 'विश्व संस्कृति उत्सव' की वजह से यमुना के जल भराव वाले इलाके को भारी नुकसान पहुंचा है। राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) की ओर से इस मामले में गठित की गई समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि सांस्कृृतिक महोत्सव के कारण बर्बाद हुए यमुना के डूब क्षेत्र के पुनर्वास म >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in