महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • आनंदित रहना ही जीवन है

    भोपाल (महामीडिया) वर्तमान आधुनिक समय में हम इतने अधिक व्यस्त हो गये हैं कि आनन्द को ही भूल गये हैं। आनन्द क्या है, उसे कैसे, कहां से प्राप्त किया जा सकता है। यह समस्त व्यस्तता और भागदौड़ हम आनन्द की प्राप्ति के लिये ही तो कर रहे हैं परंतु आनंद प्राप्ति संघर्ष ने संभवत: हमें इतना क्षीण कर दिया है कि हमें आनंद के स्थान पर अवसाद प्राप्त हो रहा है।< >>और पढ़ें

  • प्रकृति और जीवन

    भोपाल (महामीडिया) प्रकृति एक मात्र शब्द नहीं है जब हम लिखते या पड़ते हैं तो हमारे मस्तिष्क में सम्पूर्ण शक्तियों, परिस्थितियों और वस्तुओं को एक परस्पर जुड़ाव की अनुभूति होती है। हमारे चारों ओर का परिवेश जिससे हम जीवित है वही विराट प्राकृतिक परिवेश ही प्रकृति है। ये अत्यंत शक्तिशाली एवं अत्यधिक संवेदनशील है। अत: हमारे ऋषि मुनियों, सतों ê >>और पढ़ें

  • भावातीत ध्यान और विश्राम के स्तर

    भोपाल (महामीडिया) भावातीत ध्यान से साधक को स्वाभाविक रूप से स्वत: गहन विश्राम मिलता है यह अध्ययन डॉ. कीथ वालेस के प्रथम अध्ययन को पुष्ट करता है। इस अध्ययन में साधक की चयापचय गति (मेटाबोलिक रेट) निकालने के लिए साधक में आॅक्सीजन खपत की माप ध्यान पूर्व, ध्यान के समय तथा ध्यान के पश्चात् लिया गया। इन साधकों की औसत आयु 31 वर्ष थी और यह लोग लगभग 26 महीन >>और पढ़ें

  • आज्ञा पालन और चेतना

    भोपाल (महामीडिया)भारतीय संस्कृति प्रेरणाओं कि अविरल धारा है और समय-समय पर इस धारा को अनेक महापुरुषों ने अपने प्रेरणा दायक जीवन को इसमें समाहित होकर इसका मान बढ़ाया है। 
    भारतीय संस्कृति में आज्ञा पालन का विशेष महत्व है, आज हम हमारी सनातन परम्परा के तीन मुख्य आज्ञापालक पुत्रों राजा शांतनु पुत्र 'भीष्म', राजा ययाति पुत्र 'पुरु' एवं र >>और पढ़ें

  • 'वेद' प्रकाश पुंज

    भोपाल (महामीडिया) 'वेद' वह आकाश पुंज है जो हमारे जीवन को प्रकाशित कर हमारा मार्गदर्शन करते हैं। यह शुद्ध ज्ञान सनातन है। आधुनिक शिक्षा का ज्ञान व्यक्ति व समाज की चेतना से लुप्त हो सकता है किंतु वैदिक-ज्ञान प्रकृति में समाहित है जिसे हम अपनी चेतना को जागृत कर प्राप्त कर सकते हैं। जब मानव ने जन्म लिया तब भी उसकी चेतना जागृत थी तभी तो उसे जब भू >>और पढ़ें

  • आम जनता की हथियार हैं जनहित याचिकाएं

    भोपाल (महामीडिया) सुप्रीम कोर्ट ने जज लोया की मृत्यु के मामले में किसी भी तरह की स्वतंत्र जांच की मांग को नकार दिया. वो न्यायालय का अधिकार क्षेत्र है, लेकिन कोर्ट ने जिस तरह से वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण और दुष्यंत दवे के आचरण और नियत पर शक करते हुए जनहित याचिकाओं की वैधता पर ही सवालिया निशान लगाए, उससे आने वाले समय में जनहित के मुद्दे उठाने व >>और पढ़ें

  • योग जीवनसत्ता के मूल में पहुंचने का माध्यम है

    भोपाल (महामीडिया) 
    तपस्विभ्योऽधिको योगी
    ज्ञानिभ्योऽपि मतोऽधिकः
    कर्मिभ्यश्चाधिको योगी
    तस्माद्योगी भवार्जुन ॥
    उक्त श्लोक का अर्थ हैः तपस्वियों, ज्ञानियों और सकाम कर्मियों से भी श्रेष्ठ है योगी। अतः हे अर्जुन तुम योगी हो। सहस्राब्दियों पूर्व योगिराज श्रीकृष्ण और तत्कालीन सर्वश्रेष्ठ धनु >>और पढ़ें

  • योग और लक्ष्य

    भोपाल (महामीडिया)  योग अर्थात मिलन, दार्शनिक दृष्टि से आत्मा का परमात्मा से मिलन ही योग है। अतः योग वह माध्यम है जो हमें परमात्मा से साक्षात्कार कराता है। उस परमपिता परमेश्वर तक पहुंचने का माध्यम योग है। तो, योग को समझने का प्रयास ही योगी होने की प्रथम सीढ़ी है जब हम अपने अज्ञान को ज्ञान से मिटा देते है तो वह योग है। जिस प्रकार ब्रह्माण्ड से >>और पढ़ें

  • सोशल मीडिया के सार्थित्व में दौड़ते आंदोलनों के रथ

    भोपाल (महामीडिया): सूचना और संचार क्रांति ने मानव जीवन की दशा और दिशा दोनों ही बदल कर रख दी है. इतना ही नहीं, इस क्रांति ने जो माध्यम तैयार किये हैं उनके द्वारा सूचनाएं भेजने यानि संचार करने की गति को भी तीव्र बना दिया है जिस कारण मानव जीवन बेहद तीव्र गति की दिशा में आगे बढ़ने लगा है. वर्तमान का युग सोशल मीडिया का युग है. इन्टरनेट के माध्यम से चलने वाल >>और पढ़ें

  • तनावों और थकान से मुक्ति दिलाता है महर्षि भावातीत ध्यान

    भोपाल (महामीडिया) ब्रह्मचारी गिरीश देश के महान सपूत, चेतना वैज्ञानिक, विश्व प्रशासक एवं परम् तपस्वी परम् पूज्य महर्षि महेश योगी जी ने 1957 में सम्पूर्ण विश्व को भावातीत ध्यान शैली प्रदान की जो सरल, स्वाभाविक और प्रयासहीन है, चेतना की उच्चतर अवस्थाओं की सृज्नात्मक शक्ति का विकास है, जो सारी समस्याओं का एक मात्र निराकरण है। इसके अभ्यास से म >>और पढ़ें

  • आनंदित रहना ही जीवन है

    भोपाल (महामीडिया) वर्तमान आधुनिक समय में हम इतने अधिक व्यस्त हो गये हैं कि आनन्द को ही भूल गये हैं। आनन्द क्या है, उसे कैसे, कहां से प्राप्त किया जा सकता है। यह समस्त व्यस्तता और भागदौड़ हम आनन्द की प्राप्ति के लिये ही तो कर रहे हैं परंतु आनंद प्राप्ति संघर्ष ने संभवत: हमें इतना क्षीण कर दिया है कि हमें आनंद के स्थान पर अवसाद प्राप्त हो रहा है।< >>और पढ़ें

  • दलित, जो अब दलित नहीं रहा

    भोपाल (महामीडिया): इतिहास की पुस्तकों से ही हमने जाना था कि भारत देश में हिन्दू समाज का निम्नतम अंग समझे जाने वाले हरिजनों को सवर्णों ने हजारों वर्षों तक दमनकारी नीतियों के तहत प्रताड़ित किया और अधिकार विहीन रखा. फलस्वरूप आज़ादी के बाद लोकतंत्र की स्थापना के साथ ही उनके उत्थान के लिए विशेष कानून और नीतियाँ बनाई गयीं. आज़ादी के समय के सरकारी आंकड़& >>और पढ़ें

  • भारतीय सड़कों पर दौड़ेंगी इलेक्ट्रिक SUV कारें

    नई दिल्ली (महामीडिया) देश की दिग्गज कार निर्माता कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा नई इलेक्ट्रिक एसयूवी लॉन्च करने की योजना बना रही है। वह स्कॉर्पियो और XUV500 का इलेक्ट्रिक वर्जन भी ला सकती है। महिंद्रा अपनी इन इलेक्ट्रिक एसयूवी को पिनिनफैरिना के साथ मिलकर बनाएगा। पिनिनफैरिना इटली की महिंद्रा के स्वामित्व वाली एक डिजाइन कंपनी है। ऐसा माना  >>और पढ़ें

  • उत्तर चीन और उत्तर कोरिया के नये संबंध

    भोपाल (महामीडिया)  चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय कमेटी के महासचिव, चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के निमंत्रण पर उत्तर कोरिया की लेबर पार्टी के अध्यक्ष, राज्य परिषद के अध्यक्ष किम जोंग उन ने 25 से 28 मार्च तक चीन की अनौपचारिक यात्रा की। यात्रा के दौरान शी चिनफिंग ने जन वृहत भवन में किम जोंग उन के साथ वार्ता की। चीनी राष्ट्रपति दंपति ने किम >>और पढ़ें

  • म.प्र. में सत्ता-विपक्ष की स्वार्थपूर्ण राजनीति

    भोपाल धर्मेन्द्र सिंह ठाकुर मध्यप्रदेश में पिछले कुछ दिनों से महिला उत्पीड़न मामलों को लेकर भूचाल सा आ गया है। अखबार और इलेक्ट्रानिक्स मीडिया चैनल एवं सोशल मीडिया भी इन मामलों पर खूब सुर्खियां बटोरने से नहीं चूके। मीडिया ने तो अपना काम कर लिया लेकिन प्रदेश में सत्ता पक्ष, विपक्ष और अन्य राजनीतिक दल अपने स्वार्थ सिद्धि में रूचि लेते >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in