महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • योग और जीवन लक्ष्य

    योग अर्थात मिलन, दार्शनिक दृष्टि से आत्मा का परमात्मा से मिलन ही योग है। अत: योग वह माध्यम है जो हमें परमात्मा से साक्षात्कार कराता है। उस परमपिता परमेश्वर तक पहुंचने का माध्यम योग है। योग को समझने का प्रयास ही योगी होने की प्रथम सीढ़ी है जब हम अपने अज्ञान को ज्ञान से मिटा देते है तो वह योग है। जब हम अपने ??मैं??की कमी को ??हम?? से पूरी कर ल >>और पढ़ें

  • उत्थित-एकपादासन

    विधि-सर्वप्रथम पीठ के बल आराम के साथ चेतन आसन की तरह भूमि पर लेट जाते हैं। फिर दायें पैर को धीरे-धीरे ऊपर उठाते हैं तथा पैर बिना मोड़े हुए सीधा रखते हैं। लगभग 70 (अंश) से 90 (अंश) तक लाकर 10 सेकेण्ड रुकते हैं फिर धीरे-धीरे पैर को जमीन पर आराम से वापस रखते हैं। ठीक इसी प्रकार बायें पैर को धीरे-धीरे ऊपर की ओर आराम से उठाते हैं। पैर को सीधा रखते हुए 10 सेकण्ड तक रुक >>और पढ़ें

  • पादसंचलन आसन

    विधि-सर्वप्रथम हम चेतन आसन की स्थिति में पीठ के बल पर लेट जाते हैं। हथेली कमर के बराबर में ऊपर की ओर खुली हुई रखते हैं। दोनों पैरों के पंजे मिलाकर रखते हैं। फिर एक पैर के घुटने को मोड़कर सीने की ओर ले आते हैं ठीक उसी प्रकार जैसे सायकिल चलाते समय करते हैं। इसके बाद पहला पैर सीधा करके दूसरे पैर का घुटना मोड़कर सीने तक लाते हैं और पैरों को ì >>और पढ़ें

  • 'वेद' प्रकाश पुंज

    'वेद' वह आकाश पुंज है जो हमारे जीवन को प्रकाशित कर हमारा मार्गदर्शन करते हैं। यह शुद्ध ज्ञान सनातन है। आधुनिक शिक्षा का ज्ञान व्यक्ति व समाज की चेतना से लुप्त हो सकता है किंतु वैदिक-ज्ञान प्रकृति में समाहित है जिसे हम अपनी चेतना को जागृत कर प्राप्त कर सकते हैं। जब मानव ने जन्म लिया तब भी उसकी चेतना जागृत थी तभी तो उसे जब भूख लगी तो उस >>और पढ़ें

  • उच्च शिक्षा के सुधार में बाधाएं

    पूरी दुनिया में भले ही भारत के आईआईटी का डंका बज रहा हो, परंतु सही बात तो यह है कि देश में उच्च शिक्षा का स्तर उठ नहीं पा रहा है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा नित ही कोई न कोई नियम निकाल कर उच्च शिक्षा गुणवत्ता लाये जाने के प्रयास किये जाते हैं, लेकिन दूसरी ओर खुद उसी के द्वारा उच्च शिक्षा के साथ खिलवाड़ की जाती है। यूजीसी, सरकार और विश्वविद्य& >>और पढ़ें

  • आजादी का पर्व मनाएं

    अट्ठावन वर्ष की हो गई हमारी स्वतंत्रता। इसे उम्र से तौलने की आवश्यकता नहीं है। और न ही हमें किसी प्रकार से निराश होने की आवश्यकता है। हमारे देश में पर्व मनाने की जो शानदार परम्परा है, उसका निर्वहन करते हुए हम स्वतंत्रता का महापर्व मनाएं। इस स्वतंत्रता के लिए कितने ही लोगों ने अपने जीवन को समर्पित कर दिया। कितनी माताओं की गोद सूनी हुई। कितनी स >>और पढ़ें

  • डीएनए बनाम स्वाभिमान

    बिहार चुनाव में अब डीएनए की बात हो रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के डीएनए पर टिप्पणी कर दी, तो नीतीश ने उसे पूरे बिहार से जोड़ दिया। सही कौन और गलत कौन, इस पर तो आजकल बात होती ही नहीं, बस बयानों का जोरदार युद्ध प्रारंभ हो जाता है। नीतीश कुमार ने घोषणा की है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके डीएनए वाला अपना बयान वाप >>और पढ़ें

  • चुनावी जंग में फिसलती जुबानें

    बिहार में चुनावी रणभूमि सज गई है और राजनीतिक दलों की रैलियों का दौर तेज हो गया है। उसी गति से नेताओं की बयानी जंग भी जेज हो गई है और उनकी जुबानों का फिसलने की तो जैसे प्रतिस्पर्धा चल पड़ी है। बोलने का तो मानो कोई स्तर ही नहीं रह गया है। प्रधानमंत्री कुछ कह जाते हैं तो उनकी पार्टी के लोग कमर के नीचे वार शुरू कर देते हैं और फिर बिहार के नेताओं के शब्द  >>और पढ़ें

  • भारतीय बाजार के लिए चुनौतियां

    दुनिया भर में इस समय बहुराष्ट्रीय कंपनियों का दबदबा बढ़ रहा है। भारत में भी आनलाइन खरीददारी का बाजार लगातार बढ़ता जा रहा है। मल्टी ब्रैंड रिटेल में विदेशी निवेश काफी शर्तों के साथ आता है, लेकिन ऑनलाइन वेबसाइटों में इस पर कोई शर्त नहीं होने से भारतीय उद्योग जगत की चिंताएं बढ़ गई हैं। इसलिए देश के छोटे और बड़े सभी रिटेल कारोबारियों को ई-कॉमर्स >>और पढ़ें

  • संसद में टकराव

    देश में राजनीतिक परिस्थितियां कुछ इस तरह की हो गई हैं कि संसद हो या राज्यों की विधानसभाएं, हर जगह टकराव के दृश्य सामने आ रहे हैं। आशंका के अनुसार ही मंगलवार को संसद का मॉनसून सत्र अच्छे खासे हंगामे के साथ शुरू हुआ। कांग्रेस और दूसरी विपक्षी पार्टियों ने इस बार विदेश मंत्री सुषमा स्वराज,राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और मध्यप्रदेश के  >>और पढ़ें

  • केवल प्रशिक्षण नहीं काम भी दो

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेक इन इंडिया और स्किल इंडिया को अपने एजेंडे में काफी ऊंची जगह दे रखी है। स्किल इंडिया के लिए सरकार ने हाल ही में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना प्रारंभ की है, जिसके अंतर्गत युवाओं को कौशल विकास का प्रशिक्षण दिया जाएगा। यानि उनमें काम करने की कुशलता विकसित करना है, उन्हें किसी विशेष काम के योग्य बनाना है। परंतु य&# >>और पढ़ें

  • संसद का सत्र और टकराव की तैयारी

    संसद का मानसून सत्र शुरू हो रहा है और सभी राजनीतिक दल इसके लिए तैयारी कर रहे हैं। कोई हमले की तैयारी कर रहा है तो कोई आत्मरक्षा की रणनीति को अंतिम रूप दे रहा है। समन्वय की बात कहीं भी सुनाई नहीं दे रही है। सर्वदलीय बैठक में भी सत्र चलाने को लेकर सहमति तो हुई, लेकिन पक्ष और विपक्ष दोनों ही अपने मुद्दे छोडऩे के लिए तैयार नहीं। अब विपक्ष व्यापमं और लल >>और पढ़ें

  • कार्पोरेट लोकतंत्र जिंदाबाद....

    भारत को विशाल और परिपक्व लोकतंत्र कहने वालों को एक बार फिर से विचार करना पड़ेगा। पिछले लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को केंद्रित करके जिस तरह से चुनाव लड़ा और जीता गया, उसे कारपोरेट चुनाव की संज्ञा दी गई। सोशल मीडिया पर वेतनभोगी प्रचारकों का कब्जा, मीडिया की खरीद-फरोख्त, कारपोरेट घरानों का हर कदम पर साथ, रणनीति कक्ष के बजाय वार र >>और पढ़ें

  • असफलता के पीछे सबक

    राजनीति में एक-दूसरे का विरोध करना तो ठीक है, लेकिन जब एक-दूसरे को नीचा दिखाने की होड़ प्रारंभ हो जाती है, तो फिर उस देश की जनता का कुछ भला नहीं हो सकता। वर्तमान मोदी सरकार के साथ भी ऐसा ही हो रहा है। भूमि बिल पर बुलाई बैठक में कई मुख्यमंत्रियों की अनुपस्थिति ने आगे की राजनीति के संकेत दे दिए हैं। यह स्थिति दुर्भाग्यपूर्ण कही जा सकती है, परंतु इसके ë >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in