महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • दसवीं में सामाजिक विज्ञान की जगह कम्प्यूटर विज्ञान का प्रश्न पत्र जोड़ा जाए

    भोपाल (महामीडिया) राजकुमार शर्मा शिक्षा स्पष्टतः दो फांक में बंटी पाटों को  चौड़ी करने, उन्हें बनाए रखने में परीक्षतः शामिल है। इन दो वर्गों की पहचान हम निजी एवं सरकारी, जाति और धर्मगत स्कूली शिक्षा के रूप में कर सकते हैं। स्कूल के प्रांगण में जिस ढंग से धार्मिक पर्वों (दीवाली, बुद्ध पूर्णिमा, ईद आदि) की छुट्टियां होती हैं, उससे बच्चों की स >>और पढ़ें

  • "भावातीत ध्यान" अनेक समस्याओं का समाधान- ब्रह्मचारी गिरीश

    भोपाल (महामीडिया) "महर्षि महेश योगी प्रणीत भावातीत ध्यान का नियमित अभ्यास व्यक्ति और समाज की अनेकानेक समस्याओं का समाधान प्रस्तुत करता है। भावातीत ध्यान की प्रक्रिया अत्यन्त सरल, सहज, स्वाभाविक और प्रयासरहित है। इसे किसी भी धर्म, आस्था, विश्वास, विचारधारा, पारिवारिक पृष्ठभूमि, जाति, लिंग के व्यक्ति एक बार सीखकर जीवनभर अभ्यास कर & >>और पढ़ें

  • जीवन्त शिक्षा

    भोपाल (महामीडिया) भारत में शिक्षा सदैव ही जीवन का आवश्यक अंग रही है किंतु वैदिक कालीन प्राचीन भारतीय शिक्षा विद्यार्थी को समग्र रुप से सभी क्षेत्रों की समझ को प्रेरित और प्रोत्साहित करती थी। वर्तमान समय भारत में प्रचलित शिक्षा-पद्धति हमारे द्वारा तैयार नहीं की गई है इसका हमारी प्राचीन वैदिक शिक्षा पद्धति से दूर-दूर तक कोई स&# >>और पढ़ें

  • भय और आनंद

    भोपाल (महामीडिया) सूर्य सदैव पूर्व दिशा से ही उदय होता है। भारत भूमि पर अनेक सूर्य रूपि महामानवों ने जन्म लिया एवं अपने प्रकाश से सर्वप्रथम भारत भूमि को प्रकाशित किया तत्पश्चात सम्पूर्ण विश्व कोे ऐसे ही वैज्ञानिक संत परमपूज्य महर्षि महेश योगी थे जिन्होंने जीवन के विज्ञान को समझकर दर्शन व भौतिक के समन्वय से मानवता को आनंदित &# >>और पढ़ें

  • नव वर्ष की मंगल व हार्दिक शुभकामनाएं

    भोपाल (महामीडिया) वर्ष 2018 अति महत्वपूर्ण है। यह परम पूज्य महर्षि महेश योगी का जन्म शताब्दी वर्ष है। इस वर्ष महर्षि जी के सभी भारतीय संस्थानों ने मिलकर निश्चय किया है कि इस वर्ष को एक महोत्सव के रूप में मनायेंगे और महर्षि जी द्वारा प्रदत्त ज्ञान व तकनीकों को वृहद स्तर तक मानवता के हित में जन-जन तक पहुंचायेंगे। यह महोत्सव इस वर्ष प् >>और पढ़ें

  • प्रकृति और जीवन

    भोपाल (महामीडिया) प्रकृति एक मात्र शब्द नहीं है जब हम लिखते या पड़ते हैं तो हमारे मस्तिष्क में सम्पूर्ण शक्तियों, परिस्थितियों और वस्तुओं को एक परस्पर जुड़ाव की अनुभूति होती है। हमारे चारों ओर का परिवेश जिससे हम जीवित है वही विराट प्राकृतिक परिवेश ही प्रकृति है। ये अत्यंत शक्तिशाली एवं अत्यधिक संवेदनशील है। अत: हमारे ऋषि मुनियों >>और पढ़ें

  • लालू गये जेल

    भोपाल (महामीडिया) धर्मेन्द्र सिंह ठाकुर आखिरकार बिहार के बहुचर्चित चारा घोटाले में लालू प्रसाद यादव दोषी करार दे दिए गए। लालू को तुरंत जेल पहुंचा दिया गया। सजा कितनी होगी इसका फैसला कोर्ट तीन जनवरी को करेगा। इस घोटाले में कुछ आरोपी बच गए तो कहीं अधिक बच नहीं पाए। यह  बिहार प्रान्त का सबसे बड़ा भ्रष्टाचार घोटाला था जिसमें पशुओं >>और पढ़ें

  • भाजपा ने दो चांद और लगाए

    भोपाल [महामीडिया] धमेन्द्र सिंह ठाकुर - गुजरात और हिमाचल प्रदेश के बहुचर्चित विधान सभा चुनाव जीत कर भारतीय जनता पार्टी ने अपनी प्रतिष्ठा में दो चांद और लगा लिए है। दोनों ही जगह भाजना ने चिर प्रतिद्वन्दी कांग्रेस पार्टी को हराया। गुजरात में तो भाजपा की पूर्व में दरकार की जबकि हिमाचल प्रदेश में वह कांग्रेस के राज्य छीन कर स्वयं बहुमत के आधा >>और पढ़ें

  • योग जीवनसत्ता के मूल में पहुंचने का माध्यम है

    भोपाल (महामीडिया) 
    तपस्विभ्योऽधिको योगी
    ज्ञानिभ्योऽपि मतोऽधिकः
    कर्मिभ्यश्चाधिको योगी
    तस्माद्योगी भवार्जुन ॥
    उक्त श्लोक का अर्थ हैः तपस्वियों, ज्ञानियों और सकाम कर्मियों से भी श्रेष्ठ है योगी। अतः हे अर्जुन तुम योगी हो। सहस्राब्दियों पूर्व योगिराज श्रीकृष्ण और तत्कालीन सर्वश्रे >>और पढ़ें

  • भावातीत ध्यान के द्वारा आनंद चेतना करती है कायाकल्प

    भोपाल (महामीडिया)  क्या हम अपना जीवन ज्ञान यज्ञ और प्रेमयज्ञ की दोनों विधियों से नहीं जी सकते? ब्रह्म से दुःखों की निवृत्ति नहीं होती, ब्रह्मानुभूति से अवश्य हो जाती है। इसी प्रकार कर्म तो श्वास-प्रतिश्वास में है किंतु गीता में भगवान कृष्ण कहते हैं सहजं कर्मकौन्तेय। फिर रामचरितमानस में वही बात प्रकारान्तर से सिक्के के दूसरे पह& >>और पढ़ें

  • भावातीत ध्यान के द्वारा आनंद चेतना करती है कायाकल्प

    क्या हम अपना जीवन ज्ञान यज्ञ और प्रेमयज्ञ की दोनों विधियों से नहीं जी सकतेब्रह्म से दुःखों की निवृत्ति नहीं होतीब्रह्मानुभूति से अवश्य हो जाती है। इसी प्रकार कर्म तो श्वास-प्रतिश्वास में है किंतु गीता में भगवान कृष्ण कहते हैं सहजं कर्मकौन्तेय। फिर रामचरितमानस में वही बात प >>और पढ़ें

  • आनंदमय चेतना है जीवनसत्ता का स्वभाव

    भोपाल (महामीडिया) यह ब्रह्मांड अनंत है। परिवर्तन इसका सतत् नियम है। जीवन और मृत्यु तो इसके छोटे से अंग है। किन्तु जो अमर है, परम है, सनातन है वह है जीवनसत्ता। यक्ष प्रश्न है कि यह जीवनसत्ता क्या है? वस्तुतः इसे जानना एक कला है। एक विज्ञान है। क्या जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में जीने का ढंग ऐसा नहीं हो सकता कि उससे व्यक्ति के साथ-साथ बî >>और पढ़ें

  • छठ पूजा का बढ़ता रूप

    भोपाल (महामीडिया) धर्मेन्द्र सिंह ठाकुर महापर्व छठ पूजा की धूम मंगलवार से आरंभ हो रही है। कुछ सालों पूर्व तक छठ पूजा का महत्व बिहार और उत्तरप्रदेश तक सीमित था लेकिन अब यह त्यौहार पूरे देशभर में बढ़ी धूमधाम के साथ मनाया जाने लगा है। विधि विधान से मनाया जाने वाले इस त्यौहार की सबसे बड़ी विशेषता उभर कर सामने आई है  >>और पढ़ें

  • किसानों को जल्दी मिले फसल बीमा

    भोपाल (महामीडिया) मध्यप्रदेश में फसल बीमा को लेकर विवाद की स्थिति बनी है. अधिकांश किसानों को बीमा की आधी अथवा उससे कम राशि का वितरण हुआ है. मुख्यमंत्री तक शिकायत पहुंची, उन्होंने कार्यवाही का आश्वासन दिया लेकिन हफ्तों बीत जाने के बाद भी अभी तक इस मसले पर कोई अंतिम निर्णय नहीं हो पाया है.
    उल्लेखनीय है कि पिछले दो वर्षों &# >>और पढ़ें

  • मुहर्रम-बकरीद पर बैन लगाने की हिम्मत क्यों नहीं -चेतन भगत

    नई दिल्ली (महामीडिया) दिवाली के मौके पर पटाखों के कारण होने वाले प्रदूषण को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने 1 नवंबर तक के लिए दिल्ली-एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दी है. इस फैसले का कुछ लोगों ने स्वागत किया है तो कई इससे निराश भी हुए हैं.सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर लेखक चेतन भगत ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. चेतन भगत सुप्रीम कोर्ट के फै >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in