महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • हिमालय पर संकट के बादल

     नई दिल्ली[महामीडिया]: आज दुनिया के ग्लेश्यिरों पर संकट मंडरा रहा है। इसका सबसे बड़ा कारण है ग्लोबल वार्मिंग, जिसके चलते बढ़ रहे तापमान का बुरा असर ग्लेशियरों पर पड़ रहा है। परिणामस्वरूप वे पिघल रहे हैं। उनके पिघलने की यदि यही रफ्तार जारी रही तो वह दिन दूर नहीं जब 21वीं सदी के आखिर तक एशिया और 2035 तक हिमालय के ग्लेशियर गायब हो जाएंगे। उनका नाम केवल >>और पढ़ें

  • स्वच्छता से सेवा की दिशा में मध्यप्रदेश के तेज डग

     सुरेश गुप्ता
    भोपाल । पिछले तीन साल में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत मध्यप्रदेश ने उल्लेखनीय प्रगति दर्ज की है। आज की स्थिति में प्रदेश में ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में मिशन के क्रियान्वयन ने जन-आन्दोलन का रूप ले लिया है। लोग अपनी बस्ती, ग्राम, शहर और जिले को खुले में शौच से मुक्त बनाने के लिये सरकार के  >>और पढ़ें

  • भोपाल, सीहोर, रायसेन में आज भारी बारिश की चेतावनी

    भाेपाल[महामीडिया]: प्रदेश में मानसून जाते-जाते एक बार फिर सक्रिय हो गया है। मौसम केंद्र ने गुरुवार को भोपाल, होशंगाबाद, सीहोर, रायसेन जिलों में कहीं- कहीं भारी बारिश होने की चेतावनी दी है। बुधवार को राजधानी समेत प्रदेश के कई शहरों में बारिश हुई। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एसके नायक ने बताया कि उत्तरी छत्तीसगढ़ के पास 7.6 किमी ऊपर एक सिस्टम बना है। ट् >>और पढ़ें

  • नवरात्र के शुरुआती तीन दिन बारिश के आसार

    भोपाल [महामीडिया]: शहर में फिलहाल मानसून की विदाई की कोई संभावना नहीं है। गणेशोत्सव की तरह नवरात्रि की शुरुआत भी बारिश के साथ हो सकती है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि गुरुवार से शनिवार तक तीन दिन बारिश होने का अनुमान है। सोमवार को तेज बारिश के बाद मंगलवार को शहर में दिनभर धूप चटकी। सोमवार देर रात से मंगलवार सुबह तक एअरपोर्ट आब्जरवेटरी में 4.53 स& >>और पढ़ें

  • जलवायु परिवर्तन से कॉफी प्रेमियों को लगेगा झटका

    वॉशिंगटन  (महामीडिया):   जलवायु परिवर्तन से दुनिया के सबसे बड़े कॉफी उत्पादन क्षेत्र लैटिन अमेरिका में पैदावार पर असर पड़ेगा। 2050 तक उत्पादन 12 फीसद की गिरावट के साथ 88 फीसद रह जाएगा। शोधकर्ताओं ने हाल ही में किए अध्ययन के बाद यह चेतावनी दी है।
    यह पहला शोध है जिसमें कॉफी और उसके उत्पादन में मददगार मधुमक्खियों पर जलवायु परिवर्तन के असर का अध्ययन  >>और पढ़ें

  • फ्लोरिडा में इरमा तूफान से हर तरफ तबाही का मंजर

    मियामी। अमेरिका के फ्लोरिडा प्रांत से चक्रवाती तूफान इरमा के गुजरने के बाद अब राहत और बचाव के साथ नुकसान के आकलन का काम शुरू हो गया है। तटीय इलाकों में हर तरफ तबाही का मंजर है। तूफान अपने पीछे बर्बादी की निशानियां छोड़ गया है।
    कैरेबियाई क्षेत्र में तबाही मचाने के बाद इरमा रविवार सुबह प्रांत के द्वीप फ्लोरिडा कीज से टकराया था। मौसम विशेषé >>और पढ़ें

  • प्रदेश में लौटा मानसून, विभाग ने इन जिलों में जताई भारी बारिश की आशंका

    भोपाल। शनिवार को भी शहर में जोरदार बारिश हुई। घने बादलों की वजह से ही दोपहर में ही अंधेरा सा छा गया, जिसकी वजह से लोगों को गाड़ियों का लाइट ऑन करना पड़ा। मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में कई स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। भोपाल सहित राज्य के कई अन्य हिस्सों में शनिवार को बादल छाने से मौसम राहत भरा है।
    -राज्य में शनिवार सुबह से >>और पढ़ें

  • भारत भवन में ऋतु आधारित बैले नृत्य-नाटिका की प्रस्तुति

    भोपाल (महामीडिया): भारत भवन में गुरूवार को विभिन्न ऋतुओं पर आधारित बैले नृत्य-नाटिका प्रस्तुत की गई। बसंत, ग्रीष्म, वर्षा, हेमंत, शिशिर और शरद ऋतुओं पर केन्द्रित 60 मिनिट की विषेश प्रस्तुति में 6 से 30 वर्ष तक की 27 नृत्यांगनाओं ने हिस्सा लिया। म्यूजिक एंड डांस ओरिएंटेड इस प्रस्तुति का लेखन गणपत स्वरूप पाठक, संगीत निर्देषन उमेश तरकसवार एवं नृत्य नि& >>और पढ़ें

  • 21 अगस्त को अमेरिकी महाद्वीप में दिखेगा पूर्ण सूर्यग्रहण

    नईदिल्ली (महामीडिया)। 21 अगस्त को अमेरिकी महाद्वीप में दिखेगा, इस साल 2017 का दूसरा सूर्यग्रहण जो कि पूर्ण सूर्यग्रहण होगा. यह ग्रहण यूरोप, उत्तर व पूर्व एशिया, उत्तर व पश्चिम अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका में पश्चिम, दक्षिण अमेरिका, प्रशांत, अटलांटिक, आर्कटिक की ज्यादातर हिस्सों में दिखेगा. 
    विशेष बात यह हैं कि अमरेरिकी महाद्वीप मे 99 सालों बाद पूर्ण सí >>और पढ़ें

  • मुंबई में रातों रात कुत्तों का रंग हुआ नीला

    मुंबई। मुंबई में आवारा कुत्तों की कमी नहीं है लेकिन पिछले कुछ दिनों में कई कुत्तों का रंग रातों-रात नीला हो गया है। इन्हें देखने वाला हर शख्स हैरान है कि अचानक ऐसा क्या हुआ जो इनका रंग बदल गया। खबरों के अनुसार इसके पीछे सबसे बड़ा कारण प्रदूषण है। नवी मुंबई के तलोजा इंडस्ट्रीयल इलाके में स्थित नदी भी काफी प्रदूषित हो गई है।नदी&# >>और पढ़ें

  • तेज बारिश नहीं हुई तो इस साल भी बन सकते हैं 2009 जैसे हालात

    भोपाल(महामीड़िया)। अगस्त का आधा महीना बीत चुका है। तेज बारिश न होने से राजधानी की लाइफलाइन माने जाने वाले बड़े तालाब का जलस्तर बढ़ने की बजाय घटने लगा है। सोमवार को जलस्तर 1660 फीट तक आ गया है। यदि हालात नहीं सुधरे तो तालाब से पानी सप्लाई में कटौती के अलावा कोई चारा नहीं होगा। ऐसे में शहर में 2009 की तरह एक दिन छोड़कर पानी सप्लाई की स्थिति भी बन सकती है। र& >>और पढ़ें

  • रिकॉर्ड पैदावार, किसान आखिर क्यों गुस्से में

      नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में किसानों द्वार किए जा रहे आंदोलन और उससे पहले महाराष्ट्र में हुए किसान आंदोलन ने किसानों के संकट को चर्चा में ले आया है. इससे पहले उत्तर प्रदेश में बनी नई सरकार ने छोटे और सीमांत किसानों के लिए कर्ज माफी की घोषणा की थी जबकि महाराष्ट्र सरकार ने कहा था कि वह इसकी संभावना तलाश रहा है. केंद्र सरकार ने खुद यह घोषणा कì >>और पढ़ें

  • स्वच्छ भारत सर्वे में भोपाल देश में दूसरे नंबर पर

    भोपाल। देश के 500 शहरों के बीच मप्र की राजधानी भोपाल स्वच्छता सर्वेक्षण 2017 की रैकिंग में दूसरे नंबर आया है। गत फरवरी माह में केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय की स्वच्छता सर्वे टीम ने फरवरी में शहर को स्वच्छता का सर्वे किया था। कार्यक्रम में महापौर आलोक शर्मा सहित निगम अफसर शामिल रहे। नगर निगम अफसरों को वर्ष 2017 की रैकिंग में निगम टॉप 10 & >>और पढ़ें

  • वैज्ञानिक की चेतावनी, इंसान छोड़ दे धरती, नहीं तो जिंदा रहना मुश्किल

    नई दिल्ली:  वातावरण में लगातार होने वाले बदलावों को लेकर महान भौतिकविद स्टीफन हॉकिंग ने चेतावनी दी है। हॉकिंग ने कहा है कि बदलती जलवायु को देखते हुए खुद को बचाए रखने के लिए मनुष्य को दूसरी धरती ढूंढ़ लेनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा है कि 100 साल बाद पृथ्वी पर लोगों का रहना मुश्किल हो जाएगा। बीबीसी की एक डॉक्यूमेंट्री एक्पेडिशन न्यू अर्थ में हॉक& >>और पढ़ें

  • ग्लोबल वॉर्मिंग के चलते 2030 तक देश में आ सकता है 'चावल संकट'

    नई दिल्लीः भारत में चावल विश्व की दूसरी सर्वाधिक क्षेत्रफल पर उगाई जाने वाली फसल है. लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि साल 2030 तक देश में लोग चावल के दाने के लिए मोहताज हो सकते हैं. जी हां ये सच है. क्योंकि आने वाले समय में मौसम का तापमान बढ़ने से देश में चावल को उगाना काफी मुश्किल हो जाएगा. देश में बड़ी आबादी चावल पर निर्भर है और इसी कारण देश के सामने >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in