महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • ओजोन परत के बारे में आई है अच्‍छी खबर

    वॉशिंगटन  (महामीडिया) संयुक्त राष्ट्र की एक नई रिपोर्ट में कहा गया है कि धरती की सुरक्षात्मक ओजोन परत एयरोसॉल स्प्रे और शीतलकों  से हुए नुकसान से अंतत: उबर रही है.ओजोन परत 1970 के दशक के बाद से महीन होती गई थी. वैज्ञानिकों ने इस खतरे के बारे में सूचित किया और ओजोन को कमजोर करने वाले रसायनों का धीरे धीरे पूरी दुनिया में इस्तेमाल खत्म किया गया.इक&# >>और पढ़ें

  • छत्तीसगढ़ के बाल वैज्ञानिकों ने बनाया एंटी लैंडमाइन रोबोट

    बिलासपुर (महामीडिया) बस्तर के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में नक्सलियों ने जब जवानों को लैंडमाइन से उड़ाना शुरू किया तो बाल वैज्ञानिकों ने बम को डिफ्यूज करने और जवानों के लिए सुरक्षा कवच के तौर पर एंटी लैंडमाइन रोबोट का आविष्कार कर दिया।इसकी खासियत ये है कि हर हाल में बम को डिफ्यूज करके रहेगा, चाहे खुद ही नष्ट क्यों न हो जाए। चार महीने की अथक प >>और पढ़ें

  • पहली बार नासा के अंतरिक्षयात्री ने दिया इस्तीफा

    नई दिल्ली(महामीडिया) 50 सालों में ऐसा पहली बार हुआ है कि एक अंतरिक्षयात्री ने नासा से इस्तीफा दे दिया है. रॉब कुलीन नाम के अंतरिक्षयात्री ने प्रशिक्षण के बीच ही इस्तीफे की घोषणा की है. नासा के अंतरिक्षयात्री की टीम में चुना जाना काफी कठिन माना जाता हैअमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने कहा है कि पांच दशक में पहली बार ऐसा हुआ है कि एक संभावित अं >>और पढ़ें

  • 150 साल पहले आज ही भारत में हीलियम की खोज हुई थी

     तिरुवनंतपुरम (महामीडिया) मछलीपट्टनम आंध्र प्रदेश के तट पर स्थित सबसे पुराने बंदरगाहों में से एक है. बहुत कम लोगों को पता होगा कि 150 साल पहले मछलीपट्टनम एक ऐतिहासिक वैज्ञानिक खोज का गवाह बना था, जिससे विज्ञान की खगोल भौतिकी नामक एक नई शाखा की शुरुआत हुई.मछलीपट्टनम में ही पहली बार एक नए तत्व हीलियम से निकलने वाली रोशनी की झलक दुनिया को मिली >>और पढ़ें

  • इसरो ने अमेरिका से स्पेस सोलर सेल्स की तकनीक खरीदी

    बैंगलूरू (महामीडिया) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने मेक इन इंडिया योजना के तहत अमेरिका से स्पेस सोलर सेल्स की तकनीक खरीदी है। इस तकनीक की सहायता से अब भारत में ही सोलर सेल का निर्माण किया जायेगा। यह सोलर सेल स्पेस में सैटेलाइट को पावर देने का का कार्य करेंगे। इसरो के चेयरमैन के. सिवान ने बताया कि अभी तक सैटेलाइट्स में लगाने के लिए अमे& >>और पढ़ें

  • नासा 6 अगस्त को लांच करेगा मिशन

    वाशिंगटन(महामीडिया) अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा सूर्य के बेहद पास पहुंचने की तैयारी में है। वह छह अगस्त को एक अंतरिक्षयान लांच करने जा रही है जो अब तब भेजे गए यानों की तुलना में सूर्य के सबसे करीब जाएगा। यह अंतरिक्षयान सूर्य के सबसे बाहरी भाग कोरोना के वातावरण का अध्ययन करेगा। सूर्य के इसी भाग से सौर वायु  की उत्पत्ति होती है।

    >>और पढ़ें

  • गूगल लाएगा नया ऑपरेटिंग सिस्टम

    नई दिल्ली (महामीडिया) जल्द ही गूगल अपने स्मार्टफोन ऑपरेटिंग सिस्टम ऐंड्रॉयड को बदलने वाला है। गूगल फूशिया नामक नया ऑपरेटिंग सिस्टम लाने वाला है इसके लिए उसने तैयारी भी कर ली है। गूगल इसे क्रोम और ऐंड्रॉयड से रिप्लेस करने की योजना बना बना रहा है। इस योजना पर 100 से भी ज्यादा लोग काम कर रहे हैं। फूशिया की टीम का कहना है कि यह ऑपरेटिंग सिस्टम आ >>और पढ़ें

  • जल्द आ सकता है फेसबुक पर डिसलाइक बटन

    नई दिल्ली (महामीडिया) यूजर्स लंबे समय से फेसबुक से लाइक बटन के अलावा, एक डिसलाइक बटन देने की भी मांग कर रहे हैं। आखिरकार फेसबुक दुनियाभर के सभी यूजर्स के लिए नए डिसलाइक बटन को जारी करने से पहले इसकी टेस्टिंग कर रही है। फेसबुक का कहना है कि यह बटन गाली-गलौच या असम्मानजनक कॉमेंट्स के लिए है, जिससे किसी विचार-विमर्श के दौरान ये कॉमेंट टॉप पर नह >>और पढ़ें

  • आइआइटी कानपुर ने बनाया कई बार लिखने वाला कागज

    कानपुर (महामीडिया) भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर ने ऐसा पेपर तैयार किया है जिसमें कई बार लिखा जा सकता है। इस कागज की खासियत है कि इसमें लिखे शब्द और चित्र को सामान्य गीले कपड़े से मिटाया जा सकता है। आइआइटी ने इस खोज को पेटेंट करा लिया है और अंतरराष्ट्रीय पेटेंट की प्रक्रिया चल रही है। केमिकल इंजीनियरिंग विभाग के एचओडी प्रो. अनिमां >>और पढ़ें

  • अब मिल सकेगी प्‍लास्टिक कचरे से मुक्ति

    नई दिल्ली (महामीडिया) वैज्ञानिक प्‍लास्टिक कचरे से निपटने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं. ब्रिटिश शोधकर्ताओं ने एक ऐसा एंजाइम विकसित किया है, जो प्‍लास्टिक की रासायनिक संरचना को तोड़कर उसे उसके बुनियादी स्‍वरूप में बदल देता है. इससे वैज्ञानिकों को प्‍लास्टिक रिसाइकिल करने में मदद मिलेगी. इस प्रक्रिया से प्‍लास्टिक को बार-बार उसके ब >>और पढ़ें

  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में चीन बनना चाहता है सरताज

    नई दिल्‍ली (महामीडिया) चीन सभी देशों को पछाड़कर आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की तकनीक के क्षेत्र में सिरमौर बनकर उभर रहा है. भविष्‍य के लिए उसने कई रणनीतियां भी बना ली हैं. चीनी सरकार इस पर तेजी से काम करने में जुटी हुई है साथ ही इस क्षेत्र में शोध को बढ़ावा दे रही है. इसी का नतीजा है कि जुलाई 2017 में चीन ने कहा था कि 2020 तक चीन आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस तकन >>और पढ़ें

  • 13 अप्रैल को लॉन्च होगी भारत की पहली 5जी लैब

    नई दिल्ली (महामीडिया) दिल्ली में 5जी सेलुलर कम्यूनिकेशन टेक्नॉलजी पर भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बड़े स्तर पर काम शुरू होगा। इसके लिए मैसिव मल्टीपल-इनपुट मल्टीपल-आउटपुट (टेक्नॉलेजी पर देश की पहली रेडियो लैब खुलेगी। आईआईटी डायरेक्टर ने बताया कि 5जी टेक्नॉलजी में नैशनल लेवल पर होने वाले काम इसी लैब में होंगे और भारत के स्तर पर जो भी गोë >>और पढ़ें

  • गूगल स्ट्रीट व्यू को भारत में नहीं मिली इजाजत

    नई दिल्ली (महामीडिया) जहां भारत सरकार ने गूगल की स्ट्रीट व्यू सर्विस को इजाजत देने से मना कर दिया। गूगल स्ट्रीट व्यू एक एप है जिसकी मदद ये यूजर किसी भी शहर, हिल, नदी या किसी भी पर्यटक स्थल का 360 डिग्री पेनोरमा और स्ट्रीट लेवर 3D इमेजनरी का व्यू देख सकते हैं। गूगल की यह सेवा दुनिया के कई देशों में चालू है।
    >>और पढ़ें

  • 13 अंकों वाले मोबाइल नंबर की टेस्टिंग हुई शुरू

    नई दिल्ली (महामीडिया) अब 13 अंकों वाले मोबाइल नंबर की टेस्टिंग शुरू हो गई है। दूरसंचार विभाग ने टेलीकॉम कंपनियों को 13 अंकों वाले नंबर जारी कर दिए हैं। यह ट्रायल मशीन-टू-मशीन कम्यूनिकेशन के लिए किया जा रहा है। मशीन-टू-मशीन कम्यूनिकेशन का आसान शब्दों में मतलब समजा जाए तो, ये एक तरह का संवाद है जो स्मार्ट बिजली मीटर और कार ट्रेकिंग डिवाइस जैसे उ& >>और पढ़ें

  • 14 साल का हुआ जीमेल

    नई दिल्ली (महामीडिया) इलेक्ट्रॉनिक मेल की दुनिया बदलकर रख देने वाले जीमेल की शुरुआत 1 अप्रैल 2004 को हुई। आज इसे 14 वर्ष पूर हो चुके हैं। जीमेल पर 1 अरब से भी ज्यादा अकाउंट्स दुनियाभर में हैं। पब्लिक के लिए इसके सेवाएं पहली बार 7 फरवरी 2007 में शुरू हुईं। 2004 तक जीमेल में अधिकतम एक जीबी डेटा ही स्टोर कर सकते थे। 2013 के बाद आप इसमें 15 जीबी तक डेटा स्टोर कर सकते ह >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in