महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • धारणा-ध्यान-समाधि

    धारणा-ध्यान-समाधि
    भोपाल (महामीडिया) धारणा - तीन अंतरङ्ग विषय धारणा, ध्यान और समाधि हैं। इन्हें ही 'संयम' कहा गया है। बहिरङ्ग के अन्तिम पड़ाव प्रत्याहार में इन्द्रियाँ बाह्य जगत के व्यवहार से अलग होकर अन्तर्मुखी होने लगती हैं। धारणा में यही क्रम आगे बढ़ता है और अब चित्त कहीं एक स्थान में ठहर जाता है। यह स्थान वास्तव में चेतना है जहां >>और पढ़ें

  • प्रत्याहर

    भोपाल (महामीडिया) धारणासु च योग्यता मनस:
    योगदर्शन अध्याय-2 सूत्र 53
    मन को हम प्राणायाम से स्थिर कर लेते हैं और फिर प्रत्याहार के द्वारा धारणा की स्थिति में जाने की तैयारी करते हैं।
    स्वविषयासम्प्रयोगे चित्तस्य स्वरूपानुकार इवेन्द्रियाणं प्रत्याहार:
    योगदर्शन अध्याय-2 सूत्र 54
    प्रत्याहार धारणा के पूर्&# >>और पढ़ें

  • भ्रामरी प्राणायाम

    भोपाल (महामीडिया) विधि- सर्वप्रथम ध्यानात्मक आसन जैसे- सुखासन, अर्धपद्मासन, पद्मासन में से किसी भी एक आसन में बैठ जायें फिर मेरूदण्ड सीधा, मुँह सामने तथा आँखे बंद कीजिए फिर शरीर को शिथिल कीजिए। दोनों नासाद्वारा से पूरक करें तथा दोनों नासाद्वार से ही रेचक करना है। गले से भैरे जैसी हल्की ध्वनि निकालते हुए अपने कानों से ध्वनि को सुनें। म >>और पढ़ें

  • शीतकारी प्राणायाम

    भोपाल (महामीडिया) विधि- ध्यानात्मक आसन जैसे-सुखासन, अर्धपद्मासन, पद्मासन में से किसी भी एक आसन में बैठ जायें और जीभ को तालु से सटा दें, दाँतों को परस्पर मिला लें तथा होठों को खुला रखें। फिर मुँह से शी..शी.. की आवाज निकालते हुए मुँह से ही श्वांस लें अर्थात् पूरक करें। फिर आभ्यन्तर-कुम्भक करें अर्थात् कुछ देर तक भीतर ही श्वांस को रोके रहें तथा ज >>और पढ़ें

  • शीतली प्राणायाम

    भोपाल (महामीडिया) विधि- ध्यानात्मक आसन जैसे-सुखासन, अर्धपद्मासन, पद्मासन में से किसी भी एक आसन में बैठ जायें फिर जीभ को बीच में से कुछ मोड़कर नाली जैसा बना लें। फिर शक्ति लगाकर, जोर के साथ, मुख से शी..शी.. की ध्वनि करते हुए गहरी श्वांस लें, तदुपरान्त अभ्यन्तर-कुम्भक करके या श्वांस को कुछ देर के लिए भीतर ही रोककर जालन्धर-बन्ध लगालें। फिर सिर ऊँचा ç >>और पढ़ें

  • बच्चों के शारीरिक-मानसिक स्वास्थ्य के लिये आवश्यक है योगासन

    भोपाल (महामीडिया) हर माता-पिता का सपना होता है कि उसका बच्चा शारीरिक-मानसिक रूप से स्वस्थ रहे। व्यस्त दिनचर्या और गलत खानपान के कारण बच्चे भी तनाव और बीमारियों के शिकार हो रहे हैं। फिट रहने के लिए हेल्थ सप्लीमेंट्स से पहले उन्हें योग सिखाएं। उन्हें हमेशा किसी एक्सपर्ट की निगरानी में ही करें। 
    सूर्य नमस्कार: सूर्य नमस्कार से शरी >>और पढ़ें

  • नाड़ी शोधन अथवा अनुलोम-विलोम प्राणायाम

    भोपाल (महामीडिया) अनेक संतों, महात्माओं, योगियों और साधकों ने अपने-अपने अनुभव और लाभ को योग के साथ जोड़कर जनहित में समयानुसार एक नया नाम दिया और वह समय-समय पर प्रचलित भी हुआ। कुछ नाम दीर्घकाल तक स्मृति में रहे और कुछ अल्पकाल में ही विस्मृत हो गये। वर्तमान की भाँति पूर्व में प्रचार व संचार के इतने साधन उपलब्ध नहीं थे। एक साधक योगी स्वयं ही क >>और पढ़ें

  • प्राणायाम

    भोपाल (महामीडिया)  प्राण वह वायवीय शक्ति है जो समस्त ब्रह्माण्ड में व्याप्त है, सजीव व निर्जीव सभी में समाविष्ट है, श्वास द्वारा ली जाने वाली वायु से उसका घनिष्ट सम्बन्ध है परन्तु यह न समझ लेना चाहिये कि दोनों ही एक हैं। प्राण हवा की अपेक्षा अधिक सूक्ष्म है। प्राण वह मूल शक्ति है जो वायु तथा समस्त सृष्टि में व्यास है। आत्मा का सूक्ष्मतम र& >>और पढ़ें

  • गर्मियों में योग के द्वारा खुद को रखें तरोताजा

    भोपाल (महामीडिया) गर्मियों में खुद को तरोताजा बनाए रखने के लिए योग महत्वपूर्ण योगदान प्रदान करता है। गर्मियों में आपका शरीर और मस्तिष्क फिट रहे इसके लिए कुछ साधारण से अभ्यास कर सकते हैं।
    शीतली प्राणयाम:  जब भी आप किसी बस का इंतजार कर रहे हों तो बस में चढ़ने से कुछ मिनट पहले आप शीतली प्राणयाम का अभ्यास कर सकते हैं। अपनी जीभ बाहर निका& >>और पढ़ें

  • पाचन संबंधी समस्याओं को इन योगासनों से करें दूर

    भोपाल (महामीडिया) आजकल बहुत सारे लोग पाचन संबंधी समस्याओं से परेशान रहते हैं। इसकी वजह लोगों के खान-पान संबंधी आदतें और कम शारीरिक मेहनत है। बाजार में बिकने वाले मंहगे फास्टफूड्स और तले-भुने पदार्थों से हमारी पाचन क्रिया पर बुरा प्रभाव पड़ता है। खाने की आदतों में थोड़ी फेर-बदल और कुछ योगासनों के नियमित अभ्यास से आप अपने पाचन तंत्र को म >>और पढ़ें

  • सूर्य नमस्कार और भूनमन आसन

    भोपाल (महामीडिया)  अनेक संतों, महात्माओं, योगियों और साधकों ने अपने-अपने अनुभव और लाभ को योग के साथ जोड़कर जनहित में समयानुसार एक नया नाम दिया और वह समय-समय पर प्रचलित   भी हुआ। कुछ नाम दीर्घकाल तक स्मृति में रहे और कुछ अल्पकाल में ही विस्मृत हो गये। वर्तमान की भांति  पूर्व में प्रचार व संचार के इतने साधन उपलब्ध नहीं थे। एक साधक योगी स्वयं ह&# >>और पढ़ें

  • गर्मियों में 'योग' से खुद को बनाएं शीतल

    भोपाल (महामीडिया) गर्मियों में खुद को शीतल बनाए रखने के लिए योग महत्वपूर्ण योगदान प्रदान करता है। एक योगसाधक के लिए यह परिवर्तन का एक हिस्सा है। एक मौसम बदलकर दूसरे मौसम का रूप लेता है और हर मौसम अपने हिसाब से वातावरण में परिवर्तन लाता है। एक योगी स्थिर भाव से इन परिवर्तनों को देखता है और इन परिवर्तनों के अनुसार ही कार्य करता हैः आपका शरी >>और पढ़ें

  • शारीरिक-मानसिक रूप से स्वस्थ रखने के लिये बच्चों को सिखाएं योगासन

    भोपाल (महामीडिया) हर माता-पिता का सपना होता है कि उसका बच्चा शारीरिक-मानसिक रूप से स्वस्थ रहे। व्यस्त दिनचर्या और गलत खानपान के कारण बच्चे भी तनाव और बीमारियों के शिकार हो रहे हैं। फिट रहने के लिए हेल्थ सप्लीमेंट्स से पहले उन्हें योग सिखाएं। उन्हें हमेशा किसी एक्सपर्ट की निगरानी में ही करें। 
    सूर्य नमस्कार: सूर्य नमस्कार से शर >>और पढ़ें

  • स्वस्थ रहने के लिए रोजाना करें ये 2 योगासन

    भोपाल (महामीडिया) हमारे देश में बहुत कम ऐसे लोग हैं, जो 60 साल की उम्र में भी उसी जीवंतता के साथ जीवन व्यतीत करते हैं। योग के सहारे इस उम्र में भी खुद को शारीरिक व मानसिक रूप से दुरुस्त रख सका जा सकता है। उम्र के अलग-अलग दौर में विभिन्न प्रकार के हॉर्मोनल बदलाव होते हैं। ऐसे में अपनी स्ट्रेंथ बढ़ाने, बीमारियों को दूर करने, हड्डियों की उम्र बढ़ान >>और पढ़ें

  • इन योगासनों से मजबूत होगी पाचन शक्ति

    भोपाल (महामीडिया) पाचन तंत्र हमारे शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा है। हम जो कुछ खाते हैं उसको ऊर्जा में बदलना और हमारे आहार से शरीर के विकास के लिए जरूरी तत्व अलग करना, ये सब पाचन क्रिया के ही अंतर्गत आता है। आजकल बहुत सारे लोग पाचन संबंधी समस्याओं से परेशान रहते हैं। इसकी वजह लोगों के खान-पान संबंधी आदतें और कम शारीरिक मेहनत है। बाजार में बिकन >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in