महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • माँ गंगा के प्रति अपार श्रद्धा का पर्व 'गंगा दशहरा' आज

    भोपाल (महामीडिया) हिन्दू धर्म में मनाया जाने वाला महत्वपूर्ण पर्व गंगा दशहरा देवी गंगा को समर्पित एक पर्व है जिसे ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है। गंगा दशहरा को गंगावतारण् भी कहा जाता है। गंगा दशहरा आज है। माँ गंगा का नाम लेने, सुनने, उसे देखने, उसका जल ग्रहण करने, छूने और उसमें स्नान करने से मनुष्य के जन्मों-जन्मों  >>और पढ़ें

  • बरगद की पूजा से आती है सौभाग्य और समृद्धि

    भोपाल (महामीडिया) आज वट सावित्री व्रत है। अखंड सुहाग की कामना से प्रतिवर्ष सुहागिन महिलाओं द्वारा ज्येष्ठ मास की अमावस्या को वट सावित्री व्रत रखा जाता है। ऐसी मान्यता है कि वट वृक्ष की जड़ों में ब्रह्मा, तने में भगवान विष्णु एवं डालियों में त्रिनेत्रधारी शिव का निवास होता है। इसलिए इस वृक्ष की पूजा से सभी मनोकामनाएं शीघ्र पूर्ण होती हí >>और पढ़ें

  • कुंभ 2019 में 49 दिन रहेगा कल्पवास

    इलाहाबाद (महामीडिया) अगले वर्ष कुंभ 2019 का आयोजन 14 जनवरी से होगा जो कि चार मार्च तक चलेगा। संगम मेले में 12 करोड़ तीर्थ यात्रियों के आने का अनुमान लगाया गया है। इस अवधि में 14 जनवरी को मकर संक्रांति, 21 फरवरी को पौष पूर्णिमा, चार फरवरी को मौनी अमावस्या, 10 फरवरी को वसंत पंचमी, 19 फरवरी को माघी पूर्णिमा व चार मार्च को महाशिवरात्रि मुख्य स्नान पर्व होंगे। इ >>और पढ़ें

  • आज कालाष्‍टमी है

    नई दिल्ली (महामीडिया) आज कालाष्‍टमी है। इस दिन को भैरवाष्टमी भी कहते हैं। कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को कालाष्‍टमी का त्‍योहार मनाया जाता है। ये दिन शिव के कालभैरव स्‍वरूप की पूजा को समर्पित होता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार काल भैरव की उत्‍पत्‍ति भगवान शिव के क्रोध से हुई है। नारद पुराण में कहा गया है कि कालाष्टमी को भैरव और देवी दुर्गा &# >>और पढ़ें

  • अनुपम ऐश्वर्य को प्राप्त कराता है ज्येष्ठ का महीना

    भोपाल (महामीडिया) ज्येष्ठ मास का आरंभ होता है तो गर्मी का मौसम ऊफान पर होता है। ज्येष्ठ महीने में सूर्य अत्यंत ताक़तवर होता है , इसलिए गर्मी भी भयंकर होती है. सूर्य की ज्येष्ठता के कारण इस माह को ज्येष्ठ कहा जाता है. गर्मियों में पानी की किल्लत से हर कोई परेशान रहता है यही कारण हैं कि बड़े बुजूर्गों ने इन पर्व त्यौहारों के जरिये पानी का महत्व &# >>और पढ़ें

  • दु:खों का प्रहाण सही ज्ञान द्वारा ही सम्भव है: भगवान बुद्ध

    भोपाल (महामीडिया)  बुद्ध पूर्णिमा बौद्ध धर्म का सबसे बड़ा त्यौहार है। वैशाख पूर्णिमा के दिन बुद्ध पूर्णिमा मनाई जाती है। कहते है इसी दिन भगवान बुद्ध को बुद्धत्व की प्राप्ति हुई थी| जहां विश्वभर में बौध धर्म के करोड़ों अनुयायी और प्रचारक है वहीँ उत्तर भारत के हिन्दू धर्मावलंबियों द्वारा बुद्ध को विष्णुजी का नौवा अवतार माना कहा गया है| बु >>और पढ़ें

  • अत्यंत पवित्र एवं फलदायी होती है वैशाखी पूर्णिमा

    भोपाल (महामीडिया) वैशाखी पूर्णिमा को भविष्य पुराण, आदित्य पुराण में अत्यंत पवित्र एवं फलदायी माना जाता है। वैशाख पूर्णिमा को महात्मा बुद्ध की जयंती के रूप में भी मनाया जाता है। इस दिन पिछले एक महीने से चला आ रहा वैशाख स्नान एवं विशेष धार्मिक अनुष्ठानों की पूर्ण आहूति की जाती है। मंदिरों में हवन-पूजन के बाद वैशाख महात्म्य कथा का परायण क >>और पढ़ें

  • अनंत अक्षय का प्रतीक है अक्षय तृतीया

    भोपाल (महामीडिया) वैसाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि में जब सूर्य और चन्द्रमा अपने उच्च प्रभाव में होते हैं, और जब उनका तेज सर्वोच्च होता है, उस तिथि को हिन्दू पंचांग के अनुसार अत्यंत शुभ माना जाता है और इस शुभ तिथि को कहा जाता है अक्षय तृतीया अथवा आखा तीज| अक्षय तृतीया को अनंत-अक्षय-अक्षुण्ण फलदायक कहा जाता है। जो कभी क्षय नहीं होती उसे &# >>और पढ़ें

  • अक्षय तृतीया पर्व पर खुलेंगे गंगोत्री-यमुनोत्री के कपाट

    उत्तरकाशी (महामीडिया) अक्षय तृतीया पर्व पर 18 अप्रैल को गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खुलेंगे। दोनों मंदिरों को रंग-बिरंगे फूलों से सजाया जाएगा। वहीं, श्री यमुनोत्री मंदिर समिति व पंच पंडा समिति ने भी कपाट खोलने की तैयारी पूरी कर ली है। 18 अप्रैल को सुबह सवा नौ बजे शनिदेव की अगुआई में देवी यमुना की डोली उनके मायके खरसाली से यमुनोत्री के  >>और पढ़ें

  • सोमवती अमावस्‍या है आज

    नई दिल्ली (महामीडिया) सोमवती अमावस्‍या आज है। बैशाख मास के कृष्‍ण पक्ष में, शिव के दिन सोमवार को अश्‍विन नक्षत्र में सूर्य और चंद्रमा एक साथ आ रहे हैं। ये अपने आप में अनोखा मेल है, जो करीब 27 वर्ष बाद दोहराई जा रही है। ये अत्‍यंत शुभ अवसर है। ये व्रत विवाहित स्त्रियां अपने पतियों की दीर्घायु की कामना से करती हैं। ऐसी मान्‍यता है की इस दिन स्‍न& >>और पढ़ें

  • सिखों का पवित्र त्यौहार बैसाखी

    भोपाल (महामीडिया) बैसाखी के समय आकाश में विशाखा नक्षत्र होता है। विशाखा नक्षत्र पूर्णिमा में होने के कारण इस माह को वैशाख कहते हैं। इस प्रकार वैशाख मास के पहले दिन को बैसाखी कहा गया है और पर्व के रूप में माना गया है। बैसाखी अप्रैल में तब मनाया जाता है, जब सूर्य मेष राशि में प्रवेश करता है। इसी समय सूर्य की किरणें गर्मी का आगाज करती हैं। इन क >>और पढ़ें

  • वैशाख मास में सोमवती अमावस्या का महत्व

    भोपाल (महामीडिया) सोमवती अमावस्या का हिन्दू धर्म में विशेष महत्त्व होता है। विवाहित स्त्रियों द्वारा इस दिन अपने पतियों के दीर्घायु कामना के लिए व्रत का विधान है। इस दिन मौन व्रत रहने से सहस्र गोदान का फल मिलता है। 16 अप्रैल सोमवार को आ रही सोमवती अमावस्या पर इस बार चार शुभ संयोग बन रहे हैं। वैशाख मास, सोमवती अमावस्या, सर्वार्थसिद्धि योग >>और पढ़ें

  • विशाखा नक्षत्र में वैशाख माह की महिमा

    भोपाल (महामीडिया) विशाखा नक्षत्र से सम्बन्ध होने के कारण इस माह को वैशाख कहा जाता है. इस महीने में धन प्राप्ति और पुण्य प्राप्ति के तमाम अवसर आते हैं. मुख्य रूप से इस महीने में भगवान विष्णु, परशुराम और देवी की उपासना की जाती है. वर्ष में केवल एक बार श्री बांके बिहारी जी के चरण दर्शन भी इसी महीने में होते हैं. इस महीने में गंगा या सरोवर स्नान का ë >>और पढ़ें

  • मन के डर को जीतने की शक्ति देते हैं श्री हनुमान

    भोपाल (महामीडिया) हनुमान जी अष्‍टचिरंजीवीयों में से एक हैं. यानी अमर हैं और आज भी हमारे बीच में किसी न किसी रुप में मौजूद हैं. इसलिए कलियुग में दूसरे देवी-देवताओं की बजाए हनुमान जी लोगों की कुछ खास मन्नतें और भी जल्दी पूरी करते हैं. हनुमान जी के आशीर्वाद से सभी बिगड़े काम चुटकी में पूरे हो जाते हैं. श्रीराम कथा और हनुमान चालीसा के पाठ में उनकी & >>और पढ़ें

  • यमघट योग, हस्त नक्षत्र में 31 मार्च को मनाई जाएगी हनुमान जयंती

    भोपाल (महामीडिया) यमघट योग, हस्त नक्षत्र में चैत्र शुक्ल पक्ष स्नान दान पूर्णिमा पर 31 मार्च को हनुमान जयंती मानाई जाएगी। हनुमान जयंती के दिन शनिवार होने का भी विशेष संयोग पड़ रहा है। इसके कारण शहर के हनुमान और शनि मंदिरों पर भी हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए भक्त विशेष पूजा-अर्जना व अभिषेक करेंगे।इससे पहले हनुमान जयंती के ऐसे संयोग 10 साल  >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in