महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • केमीकल्स से बनी गणेश मूर्तियां जप्त

    नई दिल्ली [महामीडिया]:  मिट्टी की प्रतिमाएं बनाकर बाजार में लाई जाए। प्रशासन प्लास्टर ऑफ पेरिस की मूर्तियों पर रोक लगाए। इससे नदी का जल प्रदूषित नहीं होगा। इस बार सभी लोग मिटटी के गणेश की स्थापना करें। शांति समिति की बैठक में सेवानिवृत्त प्रो. डीके अत्रे ने मिट्टी की प्रतिमाओं पर जोर देते हुए यह बात कही। 
    आगामी दिनों में >>और पढ़ें

  • श्वेतार्क गणपति की महिमा

     श्वेतार्क, अकाव के पौधे को कहते हैं तथा सामान्य बोलचाल की भाषा में इसे अकउआ भी कहते है। ये दो प्रकार के होते हैं, एक सफेद और एक नीला जो कि बहुतायत में पाया जाता है। वैसे तो यह एक जहरीला पौधा होता है परन्तु इसके फल, फूल, पत्ते एवं दुग्ध आदि का बड़ा औषधीय महत्व है। विभिन्न व्याधियों के लिए इनसे दवाएं बनती हेै।ज्योतिष में श्वेतार्क का बड़ा महत्व है। ज >>और पढ़ें

  • 24 अगस्त को मनाई जाएगी हरतालिका तीज:

    भोपाल (महामीड़िया)। अखंड सौभाग्य की कामना का परम पावन व्रत हरतालिका तीज हिन्दू पंचांग के अनुसार भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को किया जाता है। यह व्रत नारी के सौभाग्य की रक्षा और सुख की कामना हेतु श्रद्धा, लगन और विश्वास के साथ किया जाता हैं इस व्रत को कुवांरी लड़कियां भी अपने मनपसंद पति प्राप्त करने के लिए करती है। इस वर्ष हरतालिका तì >>और पढ़ें

  • इस वर्ष गणेश चतुर्थी रवि योग में

    शुभं करोति कल्याणं , आरोग्यं धनसंपदः।
    शत्रुबुद्धिविनाषाय, दीपजोतिर्नामोस्तुते।।

    भोपाल (महामीड़िया)। इस वर्ष भगवान सिद्धि विनायक श्री गणेश एक दिन अधिक विराजमान रहेंगे प्रत्येक वर्ष भगवान गणेश 10 दिनों के लिए विराजमान होते हैं परन्तु इस वर्ष 31 अगस्त और 1 सितंबर दोनो ही दिन दषमी तिथि होने के कारण वे 11 दिन तक विराजम >>और पढ़ें

  • शाम 7.45 बजे अष्टमी तिथि शुरू

    हमारे शास्त्रों के अनुसार भगवान श्रीकृष्ण का जन्म भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को रोहिणी नक्षत्र में मध्यरात्रि के समय हुआ था। इस वर्ष 14 अगस्त को शाम 7.45 बजे अष्टमी तिथि शुरू होगी और 15 अगस्त को शाम 5.39 तक रहेगी। इसलिए दोनों ही दिन जन्माष्टमी त्योहार मनाया जा सकता है। हिंदू धर्म में उदयातिथि की मान्यता होती है इसलिए जन्माष्टमी का त्योहार 15 अ >>और पढ़ें

  • भादो मास में व्रत व त्योहार को विशेष महत्व

     भाद्रपद हिन्दू पंचांग के अनुसार साल के छठे महीने को का महीना कहा जाता है। ये श्रावण के बाद और आश्विन से पहले आता है।भाद्रपद कृष्ण तृतीया को कज्जली तीज के नाम से भी जाना जाता है। इस त्यौहार को राजस्थान के कई क्षेत्रों में विशेष रूप से मनाया जाता है। यह माना जाता है कि इस पर्व का आरम्भ महाराणा राजसिंह ने अपनी रानी को प्रसन्न करने के लिये आरम्भ क >>और पढ़ें

  • कजलियों के साथ आज से शुरु हो गया भादों

    प्रेम-भाईचारा का पर्व कजलियां आज पूरे उत्साह, उमंग से मनाया जा रहा है। स्नेह के प्रतीक इस पर्व को देश भर में अलग-अलग तरह से लोग अपनी-अपनी संस्कृति के अनुरुप मनाते हैं। मध्यप्रदेश-उत्तरप्रदेश के बीच में बसे बुंदेलखंड में इस पर्व को बुंदेली अंदाज में मनाया जाता है। इसमें नागपंचमी के आसपास बोए गए गेहूं को सींच कर उनसे उत्पन्न बाली रुप कजलियां ए&# >>और पढ़ें

  • धर्म के साथ राष्ट्रभक्ति के तराने : कर्मश्री कांवड़ा यात्रा 10वां वर्ष

    होशंगाबाद। होशगांबाद के जिस नर्मदा तट पर प्रतिदिन सिर्फ धार्मिक भजनों और मंत्रों की स्वर लहरियां ही गूंजती है, शनिवार सुबह वहां धर्म के साथ राष्ट्रभक्ति के तराने भी गूंजे। अवसर था भोपाल की प्रसिद्ध संस्था ??कर्मश्री?? की कांवड़यात्रा का। प्रतिवर्ष बड़े उत्साह के साथ निकलने वाली कर्मश्री कांवड़यात्रा इस बार 10 वें वर्ष में प्रवेश कर गई है। आज श >>और पढ़ें

  • नागपंचमी पर नागों के साथ देखिए अजब गजब नजारा

     नागपंचमी के मौके पर देश के अलग-अलग भागों में नागों की पूजा की जा रही है। लोग सांपों को दूध पिला रहे हैं और कुछ लोग तो सांपों को गले में लपेटकर शिवजी का अंदाज दिखा रहे हैं। कुछ ऐसे भी मजबूत कलेजे वाले लोग हैं जो अपने एक हाथ में नाग को लपेटकर दूससे हाथ की हथेली पर दूध रखकर नाग देवता को पिला रहे हैं। आइए नाग पंचमी की कुछ ऐसी ही हैरतंगेज तस्वीरें देखें& >>और पढ़ें

  • 21 को शिवरात्रि: शिववालयों में रहेगी कड़ी सुरक्षा

    इस बार महाशिवरात्रि यानी त्रयोदशी का जल 21 जुलाई को चढ़ाया जाएगा। इसके लिए राज्य और जिला प्रशासन ने प्रमुख शिवालयों की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम किया है। खबरों के अनुसार, त्रयोदशी का जल 21 जुलाई गुरुवार को सुबह छह बजे से और चतुर्दशी का जल शुक्रवार रात 10 बजे से शनिवार शाम तक चढ़ेगा। इस दौरान मंदिरों शिवालयों में कावड़ियों और शिवभक्तों की भारì >>और पढ़ें

  • आज श्रावण महिना का दूसरा सोमवार

    जयपुर  [महामीडिया]: आज से पावन महिना श्रावण मास की शुरूआत हो गई हैं।श्रावण मास के पहले ही दिन सोमवार है। अमूमन सावन माह में चार ही सोमवार पड़ते हैं, लेकिन इस बार पांच सोमवार का होना शुभ संकेत माना जा रहा है। इस बार सावन माह 29 दिन का होगा।सावन महिने की समाप्ति आखिरी सोमवार यानी सात अगस्त को होगी तथा उसी दिन रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जा >>और पढ़ें

  • मंदिरों में उमड़ी शिव भक्तों की भीड़

     भोपाल.आज से सावन का महीना शुरु हो रहा है। यह महीना शिवाराधना के लिए सर्वश्रेष्ठ माना गया है। खास बात ये है कि महीने की शुरुआत ही सोमवार से हुई है। आज शिवालयों में भक्तों की भीड़ उमड़ रही है।- शिव भक्त भगवान भोलेनाथ की विधि-विधान से पूजन कर शांति-एवं सुख समृद्धि की कामना कर रहे हैं। - सावन में शिव पूजन के विशेष महत्व के चलते शहर के विभिन्न शिवालयों म&# >>और पढ़ें

  • भगवान शिव की आराधना का पवित्र महीना सावन आज से शुरू

     नई दिल्ली: भगवान शिव की आराधना का पवित्र महीना सावन आज से शुरू हो गया है. श्रावण मास की शुरुआत होते ही देशभर के शिवालयों में भोलेनाथ के जयकारे गूंज रहे हैं. हर तरफ बोल बम की गूंज सुनाई पड़ रही है और सब कुछ शिवमय हो गया है. सावन के साथ ही कांवड़ यात्रा भी शुरू हो गई है. ऐसे में आज हम आपको बता रहे हैं क्या है सावन का महत्व और क्यों करते हैं कांवड़ यात्रा ?स >>और पढ़ें

  • सावन विशेष: बाबा गरीबनाथ करते हैं सबकी मनोकामना पूरी

    पटना [महामीडिया]: सावन का पवित्र महीना आज से शुरू हो गया है। इस महीने में भगवान शिव की विशेष पूजा अर्चना की जाती है, भोलेनाथ की पूजा सच्चे दिल से की जाए तो वो तुरत प्रसन्न होते हैं तो अपने भक्तों की हर मुराद पूरी करते हैं। वैसे सावन में देवघर के बाबा वैद्यनाथ मंदिर में जलाभिषेक के लिए दूर-दूर से श्रद्धालु आते हैं ठीक वैसे ही मुजफ्फरपुë >>और पढ़ें

  • गुरू कृपा बिन जीवन में आनन्द की प्राप्ति नहीं: ब्रह्मचारी गिरीश

    भोपाल। ??जीवन आन्नद है, लेकिन वर्तमान समय में हम गुरूओं के ज्ञान को भूलकर जीवन को जटिल बना रहे हैं। महर्षि महेश योगी जी ने गुरुदेव अनन्त श्री विभूषित स्वामी ब्रह्मानन्द सरस्वती जी महाराज की कृपा से हमें ऐसी युक्ति प्रदान की है जिसे अपनाकर सारे ब्रम्हाण्ड में शांति स्थापित की जा सकती है। यह बात महर्षि विद्या मंदिर विद्यालय समूह क >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in