महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • परंपरा और आधुनिकता का अद्भुत संगम कुंभ

    भोपाल (महामीडिया) भारत का विश्व प्रसिद्ध कुंभ मेला परंपरा में आधुनिकता का अद्भुत संगम करने जा रहा है। यहां यह भी एक सर्वमान्य तथ्य है कि संस्कृतियों के पनपने में मेलों और विभिन्न पर्वों का विशेष योगदान है। यदि हम यह कहें कि तीज-त्योहारों और मेलों आदि ने ही सच्चे अर्थों में हमारे सांस्कृतिक विकास में मदद की है और उसे हर पल जीवंत बनाए रखा ह >>और पढ़ें

  • मकर संक्रांति कल

    नई दिल्ली (महामीडिया) मकर संक्रांति का त्योहार कल मनाया जाएगा। मान्यता है कि मकर संक्रांति के दिन सूर्य अपने पुत्र शनि के घर जाते हैं। एक अन्य मान्यता के अनुसार मकर संक्रांति के दिन ही भगवान विष्णु ने पृथ्वी लोक पर असुरों का संहार कर उनके सिरों को काटकर मंदराचल पर्वत पर भूमिगत कर दिया था। उस समय से ही भगवान विष्णु के इस विजय को मकर संक्रा >>और पढ़ें

  • कुम्भ: दिगम्बर, निर्मोही और निर्वाणी अखाड़ों की पेशवाई

    प्रयागराज (महामीडिया) आज प्रयागराज में कुम्भ मेले के लिए दिगम्बर, निर्मोही और निर्वाणी अखाड़ों की पेशवाई भगवान श्रीराम के जयघोष के साथ निकाली गई।  रामानंदाचार्य हंसदेवाचार्य की अगुवाई में साधु-संत हाथी, घोड़े, बग्घी पर सवार होकर शाही अंदाज में नगर में निकले। जगह-जगह इस पेशवाई का फूलमालाओं से स्वागत किया गया। इस अवसर पर कई साधु-संतों ने >>और पढ़ें

  • कल आंशिक सूर्यग्रहण

    नई दिल्ली (महामीडिया) साल 2019 में पहला सूर्यग्रहण कल लगेगा। यह सूर्यग्रहण पौष अमावस्या यानी 5 जनवरी की आधी रात के बाद 6 जनवरी की मध्य तक रहेगा। भारतीय समयानुसार ग्रहण सुबह 5.04 बजे पर शुरू होगा और 9.18 बजे खत्म हो जाएगा। हालांकि यह भारत में नहीं दिखाई देगा। यूरोप, मध्य एशिया, अफ्रीका, अमेरिका में इसे साफ-साफ देखा जा सकते है। बीजिंग में सूर्य का 20 फीसद हि >>और पढ़ें

  • 4 फरवरी को है पौष अमावस्या

    भोपाल     (महामीडिया)    हिंदू पंचाग  के अनुसार कृष्ण पक्ष की पंद्रहवी तिथि को अमावस्या कहा जाता है।इस दिन चन्द्रमा नहीं दिखाई देता। हिंदू धर्म में अमावस्या तिथि को पूर्वजों की पूजा करने का भी विधान है।इस दिन पितरों और पूर्वजों की पूजा करना और गरीबों में दान पुण्य करना बहुत शुभ होता है। पितृ दोष और कालसर्प दोष से मुक्ति के लिए भी इस दिन उ >>और पढ़ें

  • 6 जनवरी को आंशिक सूर्यग्रहण

    नई दिल्ली  (महामीडिया)  साल 2019 में पहला सूर्यग्रहण 6 जनवरी को लगेगा। भारतीय समयानुसार ग्रहण सुबह 5.04 बजे पर शुरू होगा और 9.18 बजे खत्म हो जाएगा। हालांकि यह भारत में नहीं दिखाई देगा। यूरोप, मध्य एशिया, अफ्रीका, अमेरिका में इसे साफ-साफ देखा जा सकते है। बीजिंग में सूर्य का 20 फीसद हिस्सा, टोक्यों में 30 फीसद और व्लादिवोस्टक में 37 फीसद हिस्सा चंद्रमा के पीछ& >>और पढ़ें

  • प्रयागराज कुम्भ मेला का आकर्षण

    प्रयागराज (महामीडिया) पंचनाम दशनाम जूना अखाड़ा का प्रयागराज जनपद में नगर प्रवेश हो गया। जूना अखाड़ा ने पूरब की ओर से प्रयागराज में प्रवेश किया। जूना अखाड़ा के संत, पूरब की दिशा से प्रयाग में प्रवेश करना शुभ मानते हैं। अब धीरे - धीरे सभी अन्य अखाड़ों का नगर प्रवेश होगा और उसके बाद पेशवाई जुलूस निकलेगा। अखाड़े पहले प्रयाग में नगर प्रवेश करते है& >>और पढ़ें

  • 1 जनवरी से कुंभ मेले में क्रूज की सवारी

    प्रयागराज (महामीडिया) प्रयागराज  में नए साल से लोग जल परिवहन का आनंद ले सकेंगे। प्रयागराज और वाराणसी के बीच बड़े बोट और क्रूज चलाए जाने की कार्ययोजना तैयार हो चुकी है, इसके लिए यमुना और गंगा नदी में पांच-पांच अस्थाई टर्मिनल भी तैयार कर लिए गए हैं। यमुना नदी में भी पांच अस्थाई टर्मिनल बनाए गए हैं। >>और पढ़ें

  • आज मोक्षदा एकादशी है

    भोपाल (महामीडिया) हिंदू धर्म में एकादशी का व्रत महत्वपूर्ण स्थान रखता है। प्रत्येक वर्ष चौबीस एकादशियाँ होती हैं। जब अधिकमास या मलमास आता है तब इनकी संख्या बढ़कर 26 हो जाती है। मार्गशीर्ष मास के शुक्लपक्ष की एकादशी को मोक्षदा एकादशी कहा जाता है। इस बार मोक्षदा एकादशी 18 दिसंबर को है। ऐसी पौराणिक मान्‍यता है कि मोक्षदा एकादशी का व्रत करन&# >>और पढ़ें

  • मोक्षदा एकादशी कल

    भोपाल (महामीडिया) हिंदू धर्म में एकादशी का व्रत महत्वपूर्ण स्थान रखता है। प्रत्येक वर्ष चौबीस एकादशियाँ होती हैं। जब अधिकमास या मलमास आता है तब इनकी संख्या बढ़कर 26 हो जाती है। मार्गशीर्ष मास के शुक्लपक्ष की एकादशी को मोक्षदा एकादशी कहा जाता है। इस बार मोक्षदा एकादशी 18 दिसंबर को है। ऐसी पौराणिक मान्‍यता है कि मोक्षदा एकादशी का व्रत करन&# >>और पढ़ें

  • साढ़े साती और अढ़ैया वाले लोगों को मिलेगी आज से राहत

    नई दिल्ली (महामीडिया) शनि की साढ़े साती और अढ़ैया वाले से परेशान लोगों को आज से राहत मिल सकती है। सूर्य ने 16 दिसंबर को धनु राशि में प्रवेश कर लिया है। सूर्य और शनि के मिलन के चलते शनि 17 दिसंबर को अस्त हो जाएगा और एक माह तक यही स्थिति बनी रहेगी। इसके चलते शनि की साढ़े साती और अढ़ैया से परेशान चल रहे जातकों को राहत मिलेगी। सूर्य के धनु राशि में आने स& >>और पढ़ें

  • हिंदू धर्म में मोक्षदा एकादशी का बहुत महत्व है

    भोपाल (महामीडिया) हिंदू धर्म में एकादशी का व्रत महत्वपूर्ण स्थान रखता है। प्रत्येक वर्ष चौबीस एकादशियाँ होती हैं। जब अधिकमास या मलमास आता है तब इनकी संख्या बढ़कर 26 हो जाती है। मार्गशीर्ष मास के शुक्लपक्ष की एकादशी को मोक्षदा एकादशी कहा जाता है। इस बार मोक्षदा एकादशी 18 दिसंबर को है। ऐसी पौराणिक मान्‍यता है कि मोक्षदा एकादशी का व्रत करन&# >>और पढ़ें

  • विवाह पंचमी 12 दिसंबर को, हुई थी श्रीराम और माता सीता की शादी

    भोपाल (महामीडिया) मार्गशीर्ष महीने की शुक्‍ल पक्ष पर आने वाली पंचमी को विवाह पंचमी के रूप में मनाया जाता है. हिंदू पंचांग के अनुसार, विवाह पंचमी भगवान श्रीराम और माता सीता की शादी की सालगिरह के रूप में मनाए जाने वाले एक लोकप्रिय हिंदू त्यौहार है. किसी भी हिंदू शादी के समान, विवाह पंचमी त्योहार कई दिनों पहले शुरू हो जाता है. भारत में कई स्था >>और पढ़ें

  • साढ़े साती और अढ़ैया वाले लोगों को मिलेगी 17 दिसंबर को राहत

    नई दिल्ली (महामीडिया) शनि की साढ़े साती और अढ़ैया वाले से परेशान लोगों को 17 दिसंबर से राहत मिल सकती है। सूर्य 16 दिसंबर को धनु राशि में प्रवेश करने वाले हैं जहां वह अपने पुत्र शनि से मिलेंगे। सूर्य और शनि के मिलन के चलते शनि 17 दिसंबर को अस्त हो जाएगा और एक माह तक यही स्थिति बनी रहेगी। इसके चलते शनि की साढ़े साती और अढ़ैया से परेशान चल रहे जातकों को >>और पढ़ें

  • साढ़े साती और अढ़ैया वाले लोगों को मिलेगी 17 दिसंबर को राहत

    नई दिल्ली (महामीडिया) शनि की साढ़े साती और अढ़ैया वाले से परेशान लोगों को 17 दिसंबर से राहत मिल सकती है। सूर्य 16 दिसंबर को धनु राशि में प्रवेश करने वाले हैं जहां वह अपने पुत्र शनि से मिलेंगे। सूर्य और शनि के मिलन के चलते शनि 17 दिसंबर को अस्त हो जाएगा और एक माह तक यही स्थिति बनी रहेगी। इसके चलते शनि की साढ़े साती और अढ़ैया से परेशान चल रहे जातकों को >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in