महामीडिया न्यूज सर्विस
>>
समाचार

  • आज अष्टमी और नवमी एक साथ

    भोपाल (महामीडिया) आज अष्टमी तिथि 13 अप्रैल दोपहर पहले 11:42 पर ही समाप्त हो जायेगी, उसके बाद नवमी तिथि लग जायेगी जो कि 14 अप्रैल सुबह 09:36 तक रहेगी। इस प्रकार नवमी तिथि दो दिनों तक रहेगी। जब नवमी दो तिथियों में हो और पहली तिथि के मध्याह्न में नवमी हो, तो नवमी का व्रत पहली तिथि को ही किया जाना चाहिए। चूंकि 14 को नवमी तिथि दोपहर होने से पहले ही सुबह 09:36 पर समाप्त हो जाय& >>और पढ़ें

  • नवरात्र के आठवे दिन होती है माता महागौरी की पूजा

    भोपाल (महामीडिया) नवरात्र के आठवें दिन दुर्गा की आठवीं शक्ति माता महागौरी की उपासना की जायेगी। महागौरी का रंग पूर्णतः गोरा होने के कारण इन्हें महागौरी कहा जाता है। आज के दिन महागौरी की उपासना करने से धन-सम्पत्ति में वृद्धि होती है और व्यक्ति के अंदर असंभव को संभव बनाने की शक्ति उत्पन्न होती है। अतः इन सब चीज़ों की प्राप्ति के लिये देवी &# >>और पढ़ें

  • रामनवमी आज

    भोपाल (महामीडिया) हिन्दू त्योहारों में राम नवमी का विशेष स्थान होता है। यह त्योहार भगवान राम के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। राम नवमी का पर्व आज मनाया जाएगा। राम नवमी से ही चैत्र नवरात्रि का समाप्ति हो जाती है। भगवान राम विष्णु के अवतारों में से एक है। भगवान राम का जन्म चैत्र मास के नवमी तिथि को पुष्य नक्षत्र में हुआ था। शास्त्रों के >>और पढ़ें

  • विनय भाव के प्रतीक श्रीराम

    भोपाल (महामीडिया) रामनवमी का त्यौहार प्रत्येक वर्ष चैत्र माह की शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि की मनाया जाता है। इस दिन को श्रीराम के जन्‍मदिन की स्‍मृति में मनाया जाता है। श्रीराम सदाचार के प्रतीक हैं, इन्हें मर्यादा पुरुषोतम कहा जाता है। शास्त्रों के अनुसार त्रेता युग में चैत्र शुक्ल नवमी के दिन रघुकुल शिरोमणि महाराज दशरथ एवं महारानी कौश >>और पढ़ें

  • नवरात्र की महासप्तमी के दिन होती है माँ कालरात्रि देवी की पूजा

    भोपाल (महामीडिया) आज चैत्र नवरात्र का सातवां दिन है। आज के दिन मां दुर्गा के सातवें स्वरूप माँ कालरात्रि की पूजा की जायेगी। माँ कालरात्रि देवी के स्मरण मात्र से ही भूत-पिशाच, भय और अन्य सभी तरह की परेशानी दूर हो जाती हैं। अतः आज के दिन मां कालरात्रि की पूजा बड़ी ही फलदायी है। मां दुर्गा ने असुरों के राजा रक्तबीज का वध करने के लिए मां कालरात >>और पढ़ें

  • नवरात्र के पांचवे दिन होती है स्कंदमाता की पूजा

    भोपाल (महामीडिया) आज चैत्र नवरात्र का पांचवा दिन है। आज नवरात्र के पांचवे दिन मां दुर्गा के रुप स्कंदमाता की पूजा की जाती है। स्कंदमाता को कार्तिकेय की माता माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार माना जाता है कि संतान की प्राप्ति और मोक्ष की प्राप्ति के लिए स्कंदमाता की आराधना करनी चाहिए। स्कंद का अर्थ है कुमार कार्तिकेय अर्थात माता पार्व >>और पढ़ें

  • आज विनायकी चतुर्थी है

    भोपाल (महामीडिया) आज विनायकी चतुर्थी है। चैत्र शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को विनायकी चतुर्थी कहा जाता है। श्री गणेश चतुर्थी नवरात्र के दौरान पड़ने के कारण इस वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी का महत्व और भी बढ़ गया है। आज के दिन श्री गणेश भगवान की उपासना करना, उनके मंत्रों का जप करना और उनके निमित्त विशेष उपाय करना आपके लिये बड़ा ही लाभकारी सिद&# >>और पढ़ें

  • चैत्र नवरात्रः आज मां कुष्मांडा देवी की पूजा-अर्चना

    भोपाल (महामीडिया) नवरात्र का आज चौथा दिन है। आज शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि है। आज के दिन मां दुर्गा के चौथे स्वरूप मां कुष्माण्डा की उपासना की जाती है। देवी कुष्मांडा आदिशक्ति का चौथा स्वरूप हैं। मां कुष्माण्डा की आठ भुजायें होने के कारण इन्हें अष्टभुजा वाली भी कहा जाता है। इनके सात हाथों में क्रमशः कमण्डल, धनुष, बाण, कमल, अमृत से भरा कलश,  >>और पढ़ें

  • आज गणगौर पूजन कर रहीं हैं सुहागिनें

    भोपाल (महामीडिया) नवरात्र के तीसरे दिन महिलाएं गणगौर माता का पूजन कर रही हैं। चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाया जाने वाला गणगौर का व्रत स्त्रियों के लिए अखण्ड सौभाग्य प्राप्ति का पर्व है। गणगौर दो शब्दों से मिलकर बना है,'गण' और 'गौर'। गण का तात्पर्य है शिव (ईसर) और गौर का अर्थ है पार्वती। वास्तव में गणगौर पूजन मां पार्वती और भगवान शिव >>और पढ़ें

  • नवरात्रि के तीसरे दिन होती है मां चंद्रघंटा की पूजा

    भोपाल (महामीडिया) चैत्र नवरात्र का आज तीसरा दिन है। आज मां चंद्रघंटा की पूजा की जाती है। शास्त्रों के अनुसार माना जाता है कि की मां के माथे में चंद्र के आकार का चांद बना है। जिसके कारण इन्हें चंद्रघंटा नाम दिया गया है। इसके साथ ही मां का सिंह वाहन है और हर हाथ में शस्त्र है। जो लोग मां की विधि-विधान के साथ पूजा करते है। उनकी मनोकामनाएं पूर्ण &# >>और पढ़ें

  • नवरात्रि के दूसरे दिन होती है माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा

    भोपाल (महामीडिया) आज नवरात्र का दूसरा दिन है। आज मां ब्रह्मचारीणी की पूजा की जाती है। साधक इस दिन अपने मन को माँ के चरणों में लगाते हैं। ब्रह्म का अर्थ है तपस्या और चारिणी यानी आचरण करने वाली। इस प्रकार ब्रह्मचारिणी का अर्थ हुआ तप का आचरण करने वाली। इनके दाहिने हाथ में जप की माला एवं बाएँ हाथ में कमण्डल रहता है। देवी ब्रह्मचारिणी का स्वरू >>और पढ़ें

  • "नवरात्रि" एक सनातन भारतीय पर्व है

    भोपाल (महामीडिया) हमारे देश में नवरात्रि पर्व सनातन काल से मनाया जाता रहा है। नवरात्रि में देवियों के नौ रूपों की पूजा-अर्चना की जाती है जिन्हें नवदुर्गा कहा जाता है। हमारी चेतना में भी 3 तरह के गुण पाये जाते हैं इन ९ दिनों में पहले तीन दिन तमोगुणी प्रकृति की आराधना करते हैं, दूसरे तीन दिन रजोगुणी और आखरी तीन दिन सतोगुणी प्रकृति की आराधना è >>और पढ़ें

  • आज है गुड़ी पड़वा

    भोपाल (महामीडिया) हिंदू नव वर्ष का प्रारंभ आज चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा से हो रहा है। हिंदू नव वर्ष गुड़ी पड़वा, उगादि आदि नामों से भारत के अनेक क्षेत्रों में मनाया जाता है। चैत्र नवरात्रि के पहले दिन नए साल के रूप में गुड़ी पड़वा मनाया जाता है। मराठी और कोंकणी हिन्‍दुओं के लिए गुड़ी पड़वा का विशेष महत्‍व है। इस दिन को वे नए साल का पहला दिन  >>और पढ़ें

  • नवरात्र के पहले दिन होती है माँ शैलपुत्री की पूजा

    भोपाल (महामीडिया) चैत्र नवरात्र का प्रारम्भ आज से हो रहा है। नवरात्र के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा होती है। मां शैलपुत्री को अखंड सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है। जीवन में स्थिरता और शक्ति की कमी दूर करने के लिये मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है। 
    शैलपुत्री माता का मंत्र 
    वन्दे वांछित लाभाय चन्द्राद्र्वकृतशेखराम्।
    >>और पढ़ें

  • महर्षि संस्थान में चैत्र नवरात्र के अवसर पर सहस्र महाचण्डीयज्ञ

    भोपाल (महामीडिया) चैत्र नवरात्र महोत्सव के अवसर पर महर्षि महेश योगी संस्थान के तत्वाधान में 6 अप्रैल से श्री सहस्रचण्डी महायज्ञ का भव्य आयोजन किया जा रहा है। महर्षि संस्था के प्रमुख ब्रह्मचारी गिरीश जी की मुख्य उपस्थिति में यह महायज्ञ भोजपुर मार्ग स्थित महर्षि वेद विज्ञान विद्यापीठ के प्रांगण में चलेगा।
    श्री सहस्रचण्डी मह >>और पढ़ें


नये चित्र

महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
महर्षि विद्या मंदिर
योग
योग
विराट जीत
विराट जीत
कुछ और चित्र
MAHA MEDIA NEWS SERVICES

Sarnath Complex 3rd Floor,
Front of Board Office, Shivaji Nagar, Bhopal
Madhya Pradesh, India

+91 755 4097200-16
Fax : +91 755 4000634

mmns.india@gmail.com
mmns.india@yahoo.in