अमेरिका आज शाम रोवर लॉन्च करेगा

अमेरिका आज शाम रोवर लॉन्च करेगा

पुणे [ महामीडिया ]अमेरिका का परसेवरेंस यान मंगल पर गुरुवार को रवाना हो रहा है। यह दुनिया में पिछले 11 दिनों में तीसरा मंगल मिशन है। इससे पहले 19 जुलाई को यूएई ने और 23 जुलाई को चीन ने अपने-अपने मिशन मंगल ग्रह के लिए रवाना किए हैं।नासा अपना मंगल मिशन फ्लोरिडा के केप केनेवरल एयरफोर्स स्टेशन से लांच करेगा। मिशन अमेरिकी समयानुसार 7:50 बजे सुबह (भारतीय समय में 5:20 बजे शाम) को लांच होगा। 18 फरवरी 2021 को मंगल के जेजेरो क्रेटर पर इसकी लैंडिंग होगी। यह मिशन मंगल के समय से एक साल (पृथ्वी के 687 दिन) तक चलेगा। इस मिशन के तहत पहली बार मंगल में एक छोटा हेलिकॉप्टर उड़ाया जाएगा।मंगल पर पहुंचने की होड़ में मौजूदा तीनों मिशन नए और दिलचस्प उद्देश्यों को लेकर जा रहे हैं। इनमें पानी की तलाश, वहां ऑक्सीजन बनाने से लेकर इतिहास में पहली बार मंगल पर हेलीकॉप्टर उड़ाने के प्रयास तक हैं।खासियत-परसेवरेंस में दो उपकरण हैं- 1000 किलो का रोवर और करीब 2 किलो का ड्रोन जैसा छोटा हेलीकॉप्टर, जो रोवर के संपर्क में रहेगा। सोलर पैनल, कार्बन ब्लेड जो गति देंगे और एंटीना। रोवर प्लूटोनियम पावर का इस्तेमाल करेगा, जो करीब 10 साल चलेगी। इसमें 7 फीट की रोबोटिक आर्म, 19 कैमरे और एक ड्रिल मशीन भी है, जो मंगल की सतह के फोटो, वीडियो और नमूने लेंगे।क्या करेगा- कार्बन डाइऑक्साइड से ऑक्सीजन का बनाएगा, मौसम को परखेगा, जिनका मंगल यात्री सामना करेंगे। पानी की खोज। मार्स एनवायरमेंटल डायनामिक्स एनालाइजर जानकारी देगा कि मंगल के हालात इंसानों को कैसे प्रभावित कर सकते हैं। तापमान, वायुदाब, रेडिएशन, धूल का अध्ययन करेगा।

सम्बंधित ख़बरें