चंद्रमा की सतह पर टकराने के बाद टूटा था लैंडर विक्रम का संपर्क

www.mahamediaonline.comकॉपीराइट © 2014 महा मीडिया न्यूज सर्विस प्राइवेट लिमिटेड

नई दिल्ली [ महामीडिया ]चंद्रमा की सतह पर पड़े चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम की स्थिति पर मंगलवार का चौथे दिन भी सस्पेंस बना रहा। इसरो ने मंगलवार को पहली बार आधिकारिक तौर पर विक्रम के मिलने की जानकारी ट्‌वीट करके दी। हालांकि, इसकी कोई तस्वीर जारी नहीं की। इसी बीच, नीदरलैंड के एस्ट्रोनॉमर सीस बासा ने नासा की जेट प्रॉपल्शन लैब के डेटा और इसरो के सार्वजनिक ताैर पर उपलब्ध डेटा की तुलना के आधार पर दावा किया कि लैंडर का संपर्क चंद्रमा की सतह से टकराने के बाद टूटा था, न कि सतह से 2.1 किमी ऊपर। इसराे ने 2.1 किमी ऊपर ही संपर्क टूटने का दावा किया था।सीस बासा नीदरलैंड की एस्ट्रॉन (नीदरलैंड इस्टीट्यूट ऑफ रेडियो एस्ट्रोनॉमी) संस्था के लिए दुनियाभर के स्पेसक्राफ्ट की ट्रैकिंग करते हैं। 7 सितंबर को भी वह ड्विंगलू टेलीस्कॉप ऑब्जर्वेटरी से चंद्रयान-2 की लैंडिंग पर नजर रखे हुए थे।