आज घर-घर में होगी माता महालक्ष्मी की पूजा

www.mahamediaonline.comकॉपीराइट © 2014 महा मीडिया न्यूज सर्विस प्राइवेट लिमिटेड

भोपाल (महामीडिया) आज महालक्ष्मी पूजा है। आज घरों में गजलक्ष्मी व्रत का पूजन होगा। इसमें मिट्टी के हाथी पर सवार माता लक्ष्मी की पूजा होती है। घर-घर में हाथी पर सवार माता लक्ष्मी की मिट्टी की प्रतिमा स्थापित की जाएगी। घरों में विभिन्न नमकीन व मिष्ठान्न बनाए जाएंगे, जिसमें आटे के मिष्ठान्न प्रमुख होंगे इस व्रत पर महिलाएं व्रत रखती हैं। कथा के बाद शाम को पूजन किया जाता है।
इस व्रत की कथा के अनुसार एक समय महर्षि वेदव्यास हस्तिनापुर गए। व्यासजी से माता कुंती तथा गांधारी ने पूछा कि आप हमें ऐसा सरल व्रत तथा पूजन बताएं, जिससे हमारी राज्यलक्ष्मी, सुख-संपत्ति, संतानें समृद्ध बनी रहें। व्यासजी ने महालक्ष्मी व्रत व गजलक्ष्मी व्रत के बारे में बताया। इस दिन स्नान कर महिलाएं 16 सूत के धागों का डोरा बनाकर उसमें 16 गांठ लगाकर हल्दी से पीला करेंगी और 16 दूब व 16 गेहूं डोरे के साथ लक्ष्मी को चढ़ाएंगी। उपवास रखकर गजलक्ष्मी की स्थापना कर पूजन कर परिवार की उन्नति के लिए प्रार्थना करेंगी।