नीरव मोदी के प्रत्यर्पण पर ब्रिटिश कोर्ट की मुहर

नीरव मोदी के प्रत्यर्पण पर ब्रिटिश कोर्ट की मुहर

लंदन (महामीडिया) नीरव मोदी को ब्रिटेन से भारत लाने का रास्ता लगभग साफ हो गया है। मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक से लगभग 12 हजार करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का मामला चल रहा है। इसी जांच के डर से बचकर वह इंग्लैंड भाग गया था। अब लंदन की अदालत ने नीरव मोदी को किसी तरह की रियायत देने से इनकार कर दिया है। वेस्टमिंस्टर कोर्ट के जज सैमुअल गूजी ने साफ कहा कि नीरव को दोषी ठहराने लायक जरूरी सबूत मौजूद हैं। कोर्ट ने ये भी माना कि नीरव मोदी ने सबूत मिटाने और गवाहों को धमकाने की साजिश रची।
ब्रिटिश कोर्ट ने नीरव मोदी की मानसिक स्वास्थ्य चिंताओं को लेकर दी गई दलील को भी खारिज कर दिया। कोर्ट ने कहा कि ऐसी परिस्थिति में यह असामान्य बात नहीं है। जज ने बताया कि नीरव मोदी को मुंबई के आर्थर रोड जेल में पर्याप्त चिकित्सा दी जाएगी और मानसिक स्वास्थ्य देखभाल भी की जाएगी। जज ने कहा कि नीरव मोदी को भारत भेजने पर आत्महत्या का कोई खतरा नहीं है क्योंकि उसके पास आर्थर रोड जेल में पर्याप्त चिकित्सा सुविधा उपलब्ध है।
 

सम्बंधित ख़बरें