कोरोना वायरस का खौफ चीन से बाहर भी पहुँचा

कोरोना वायरस का खौफ चीन से बाहर भी पहुँचा

नई दिल्ली [ महामीडिया ]वुहान कोरोना वायरस अब घातक महामारी का रूप लेने लगा है. हालांकि अभी तक विश्व स्वास्थ्य संगठन  ने इस वायरस के अटैक को पब्लिक इमरजेंसी घोषित नहीं किया है. लेकिन रोजाना इस संक्रमण से हो रहीं मौत और फैलता वायरस चीन के लिए स्वास्थ्य आपातकाल जैसी स्थिति पैदा कर चुका है. बुधवार सुबह तक इस जानलेवा वायरस की वजह से 131 लोगों की मौत हो चुकी है. चीन में आग की तरह फैल रहे इस वायरस से अभी तक लगभग 5,300 लोग संक्रमित हो चुके हैं.चीन में संक्रमण फैलने के बीच भारत सरकार ने भी अपनी निगरानी बढ़ा दी है. केंद्र सरकार ने संक्रमण के खतरे को देखते हुए निगरानी का काम 20 हवाई अड्डों तक बढ़ा दिया है. अब तक 155 फ्लाइटों से आए 33,552 यात्रियों की जांच हो चुकी है. लगभग 20 यात्रियों में संक्रमण का अंदेशा होने की वजह से निगरानी में रखा गया है. जापान और अमेरिका सरकार ने वुहान शहर से अपने नागरिकों को निकालना शुरू कर दिया है. अभी तक जापान सरकार ने एयर लिफ्ट के जरिए 200 से ज्यादा जापानी नागरिकों को निकाला है. अमेरिका ने भी एक विशेष विमान से 240 नागरिकों को संक्रमित शहर से निकाल लिया है. चीनी सरकार ने वुहान शहर से संक्रमण बाहर जाने से रोकने के लिए सभी यातायात बंद कर दिए हैं. ऐसे में सिर्फ वुहान शहर के आसपास ही लगभग 5 करोड़ विदेशी फंस गए हैं. अंतरराष्ट्रीय मीडिया से मिल रहे जानकारी के अनुसार घातक वुहान कोरोनावायरस के मामले अमेरिका, जापान, ऑस्ट्रेलिया, मलेशिया, दक्षिण कोरिया, फ्रांस, कनाडा, नेपाल, जर्मनी, थाईलैंड, सिंगापुर और वियतनाम से भी कंफर्म हो चुके हैं. इन सभी देशों ने एहतियातन अपने अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट्स में निगरानी जांच शुरू कर दिया है. खास तौर से चीन से आने वाले विमानों की सघन जांच हो रही है. किसी भी तरह के बुखार या वायरल की शिकायत को गंभीरता से जांचा जा रहा है.
 

सम्बंधित ख़बरें