WHO ने एंटीमाइक्रोबियल रेजिस्टेंस को लेकर चिंता जताई 

WHO ने एंटीमाइक्रोबियल रेजिस्टेंस को लेकर चिंता जताई 

जेनेवा (महामीडिया) कोरोना महामारी का कहर तो हम देख ही रहे है, लेकिन हम अब कोरोना जैसी ही एक और महामारी के मुहाने पर खड़े है। यह बात खुद विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कही है। WHO ने कहा है कि कोरोना वायरस जैसी खतरनाक तो नहीं लेकिन हम उस जैसी ही एक और विकट समस्या के मुहाने पर खड़े हैं। साथ ही WHO ने चेताया है कि अगर हम नहीं संभले तो मेडिकल जगत में की गई एक सदी की मेहनत बर्बाद हो जाएगी।  
WHO ने बढ़ते एंटीमाइक्रोबियल रेजिस्टेंस को लेकर चिंता जताई है. एंटीमाइक्रोबियल रेजिस्टेंस वह परिस्थिति है जब किसी संक्रमण या घाव के लिए बनी दवा का असर कम हो जाए। इसका सीधा मतलब है कि संक्रमण या घाव के लिए जिम्मेदार जीवाणु उस दवा के प्रति अपनी इम्यूनिटी मजबूत कर लें। 
WHO ने कहा कि एंटीमाइक्रोबियल रेजिस्टेंस बढ़ना कोविड-19 महामारी की तरह ही खतरनाक है। उन्होंने कहा कि इससे एक सदी का चिकित्सकीय विकास खत्म हो सकता है। डब्लूएचओ के महानिदेशक ट्रेडोस अधानोम घेब्रेसस ने इसे 'हमारे समय के सबसे बड़े स्वास्थ्य खतरों में से एक' बताया।  

सम्बंधित ख़बरें