बाल अधिकारों के क्रियान्वयन में म प्र पिछड़ा  

बाल अधिकारों के क्रियान्वयन में म प्र पिछड़ा  

भोपाल [ महामीडिया] बच्चों के खिलाफ अपराधों के मामले में मध्य प्रदेश सबसे अव्वल है, जहां 17, हजार 08 केस दर्ज किए। इसके बाद उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र जहां क्रमशः 15 हजार 271 और 14 हजार 371 मामले दर्ज किए गए। चौथे नंबर पर बंगाल है जहां, बच्चों के साथ अपराध के 10 हजार 248 मामले सामने आए। हालांकि, रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि साल 2020 में बच्चों के खिलाफ सबसे ज्यादा अपराध पश्चिम बंगाल में बढ़े। यहां बच्चों के खिलाफ अपराधों में 63 फीसदी का उछाल आया। वहीं, तमिलनाडु में 44 फीसदी मामले बढ़े और इसके बाद जम्मू-कश्मीर में 28 फीसदी, राजस्थान में 27 फीसदी बढ़ोतरी हुई। झारखंड और ओडिशा में ऐसे मामले 21 फीसदी बढ़े।  रिपोर्ट में यह भी खुलासा हुआ है कि बंगाल में साल 2018 में बच्चों के खिलाफ अपराध के 6286 मामले आए। साल 2019 में ये घटकर 6 हजार 191 रह गए और फिर 2020 में यह बढ़कर 10 हजार 248 तक पहुंच गए। 
 

सम्बंधित ख़बरें