देश में डिजिटल बैंक बनेंगे

देश में डिजिटल बैंक बनेंगे

नई दिल्ली (महामीडिया) सरकार के थिंक टैंक नीति आयोग ने बुधवार को डिजिटल बैंकों को बनाने का प्रस्ताव किया. ये बैंक अपनी सेवाओं को देने लेने के लिए पूरी तरह इंटरनेट पर निर्भर करेगी. इन्हें फिजिकल ब्रांचों की कोई जरूरत नहीं होगी. इससे देश में वित्तीय तौर पर लोगों को सशक्त बनाने की चुनौतियों को कम किया जा सकेगा. आयोग ने डिजिटल बैंक्स: अ प्रपोजल फॉर लाइसेंसिंग एंड रेगुलेटरी रिजीम फॉर इंडिया शीर्षक का एक डिस्कशन पेपर जारी किया है.
इस पेपर में नीति आयोग ने देश के लिए डिजिटल बैंक की लाइसेंसिंग और रेगुलेटरी व्यवस्था के लिए रोडमैप और जरिया बताया है. पेपर में कहा गया है कि डिजिटल बैंक बैंकिंग रेगुलेशन एक्ट, 1949 में परिभाषित किए गए बैंक हैं. इसमें कहा गया है कि दूसरे शब्दों में ये इकाइयां डिपॉजिट जारी, लोन देने और वे सभी सेवाएं देंगी, जिनके लिए बी आर एक्ट उन्हें सशक्त करता है. 

सम्बंधित ख़बरें