गुना में तीन पुलिसकर्मियों की हत्या को लेकर शिवराज ने आपात बैठक बुलाई 

गुना में तीन पुलिसकर्मियों की हत्या को लेकर शिवराज ने आपात बैठक बुलाई 

गुना (महामीडिया) मध्य प्रदेश के गुना के आरोन थानाक्षेत्र में शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात पुलिस और शिकारियों के बीच मुठभेड़ में एक एसआइ सहित तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार शुक्रवार की रात करीब 12.30 बजे आरोन थाना पुलिस को सूचना मिली थी कि शहरोक गांव की पुलिया से आगे मौनवाड़ा के जंगल में शिकारियों द्वारा ब्लैक बग हिरण और मोर का शिकार किया गया है। इस पर थाने से एसआइ राजकुमार जाटव, प्रधान आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम मीना सहित सात लोग दो चारपहिया और एक बाइक से जंगल की ओर रवाना हुए। इस दौरान पुलिस ने चार मोटरसाइकिल से आए दो-तीन शिकारियों को पकड़ लिया। लेकिन तभी पीछे से आए शिकारियों के अन्य साथियों ने फायरिंग शुरू कर दी। इसमें तीन पुलिसकर्मियों में से सभी सात से आठ गोलियां लगने से मौके पर मौत हो गई, जबकि अन्य भाग निकले।
सरकार की ओर से बलिदानी पुलिसकर्मियों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की गई है। पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सुबह उच्चस्तरीय बैठक बुलाई। बैठक गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के साथ-साथ सीएस, डीजीपी, एडीजी, पीएस गृह सहित पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए. बैठक में सीएम शिवराज के साथ तमाम अधिकारी वर्चुअली जुड़े. इसे लेकर ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर अपनी संवेदनाएं व्यक्त कर चुके हैं. उन्होंने कहा कि इस घटना पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी और दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा.
 

सम्बंधित ख़बरें