तीज-त्योहारः आज ‘ऋषि पंचमी’ पर्व है

तीज-त्योहारः आज ‘ऋषि पंचमी’ पर्व है

भोपाल (महामीडिया) हिंदू कैलेंडर में भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी को ऋषि पंचमी मनाई जाती है। ऐसे में हर साल गणेश चतुर्थी के दूसरे दिन ऋषि पंचमी का पर्व मनाया जाता है। सनातन धर्म में ऋषि पंचमी का विशेष महत्व है।
इस दिन सप्त ऋषियों की पूजा-अर्चना कर उनसे जाने अनजाने में हुई गलतियों के लिए क्षमा मांगते हुए आशीर्वाद मांगा जाता है। ऋषि पंचमी का व्रत जाने-अनजाने हुई गलतियों और भूल से मुक्ति पाने के लिए किया जाता हैं।
माना जाता है कि इस दिन जो भी व्यक्ति ऋषियों की पूजा-अर्चना और स्मरण करता है उसे पापों से मुक्ति मिल जाती है। आज ‘ऋषि पंचमी’ पर्व मनाया जाएगा।
ऋषि पंचमी शुभ मुहूर्त
भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि शुक्रवार 10 सितंबर को रात्रि 09:57 से शुरु हो चुकी है। वहीं शुभ मुहूर्त आज प्रातः 06:07 से है। जिसके बाद यह पूरा दिन ही शुभ है। 
ऋषि पंचमी के करें इनकी पूजा
ऋषि पंचमी के दिन मुख्य रूप से सात ऋषियों की पूजा की जाती है। इन सात ऋषियों में ऋषि कश्यप, ऋषि अत्रि, ऋषि भारद्वाज, ऋषि विश्वमित्र, ऋषि गौतम, ऋषि जमदग्नि और ऋषि वशिष्ठ शामिल है।
मान्यता के अनुसार समाज के उत्थान और कल्याण में इन ऋषियों के महत्वपूर्ण योगदान के प्रति अपना सम्मान जताने के लिए ऋषि पंचमी के दिन व्रत और इन सात ऋषियों की पूजा-अर्चना की जाती है।
 

सम्बंधित ख़बरें